पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सट्‌टे का पैसा चुकाने के लिए भाई का किया किडनैप:2 लाख 85 हजार रुपए हारे थे दो युवक, 25 दिन बाद किडनैपर गिरफ्तार

हमीरपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हमीरपुर में आईपीएल में सट्टा हारने पर 2 युवकों ने अपने ही भाई को किडनैप कर लिया। उसके बाद परिवार के लोगों से 50 लाख की फिरौती मांगी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही 4 साल के मासूम को भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने बताया कि खुद को फंसता देख आरोपियों ने बच्चे को मारने की कोशिश की, लेकिन वो असफल रहे। पुलिस ने मौका रहते बच्चे को बरामद कर लिया।

बच्चे को मारने की कोशिश की

बता दें, हमीरपुर सदर कोतवाली क्षेत्र के विवेक नगर के रहने वाले कलेक्ट्रेट कर्मचारी प्रभात तिवारी के बेटे का 30 मई को अपहरण हो गया था। परिवार के लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने अलर्ट जारी करते हुए सीमाओं को सील कर दिया था। सभी वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। दूसरे जिले की पुलिस को भी अलर्ट किया गया था। जब आरोपी को लगा कि वो लोग पकड़े जाएंगे तो उन लोगों ने बच्चे को मारने की कोशिश की। जब वो लोग बच्चे को नहीं मार पाए तो बच्चे को जसपुरा थाना क्षेत्र में छोड़कर चले गए थे।

अपने बेटे को 25 दिन बाद देखने के बाद पिता ने उसको गोद में उठाकर गले से लगा लिया।
अपने बेटे को 25 दिन बाद देखने के बाद पिता ने उसको गोद में उठाकर गले से लगा लिया।

फोन और बाइक चोरी के थे

पुलिस की टीमें आरोपियों की तलाश कर रही थीं। पुलिस ने घटना के दूसरे दिन एक सीसीटीवी फुटेज जारी करते हुए 10 हजार का इनाम भी घोषित किया था। 25 दिन बाद पुलिस को मामले में कामयाबी मिली। पुलिस ने दोनों चचेरे भाइयों को गिरफ्तार किया है। आरोपी सोमेश तिवारी ने बताया की वह आईपीएल में सट्टा लगा कर 2 लाख 85 हजार रुपए हार गया था। इसीलिए भाई को किडनैप कर लिया। हमीरपुर के एसपी शुभम पटेल ने बताया कि दोनों किडनैपर 4 साल के वैभव तिवारी के सगे चचेरे भाई हैं। आरोपियों ने आईपीएल में हारे पैसों के लिए कई वारदातों को अंजाम दिया था। जिस बाइक से बच्चे का अपहरण किया गया उसे यह दोनों चुरा कर लाए थे। जिस फोन से फिरौती मांगी गई थी, उसे दोनों ने रास्ते में लूटा था।

खबरें और भी हैं...