पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमीरपुर में पिकअप और ऑटो की टक्कर, 8 की मौत:इनमें पिता और 2 बेटियां भी, प्रत्यक्षदर्शी बोला- मेरे सामने ड्राइवर ने तड़प-तड़पकर दम तोड़ा

हमीरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के हमीरपुर जिले में बड़ा हादसा हुआ है। यहां मौदहा थाना क्षेत्र में बुधवार की शाम नेशनल हाईवे-34 पर आम से भरे एक पिकअप (लोडर) और सवारियों से भरे ऑटो में आमने सामने की टक्कर हो गई। हादसा इतना भीषण था कि मौके पर ही 6 लोगों की मौत हो गई। जबकि 2 लोगों ने अस्पताल में दम तोड़ा है। मृतकों में एक पिता और उनकी 2 बेटियां शामिल हैं। हादसे में 7 लोग घायल हुए हैं। यह हादसा नेशनल हाईवे-34 पर हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर शोक जताया है।

हादसे के बाद सड़क किनारे घायलों को लिटाया गया। इसके बाद उन्हें अस्पताल भेजा गया।
हादसे के बाद सड़क किनारे घायलों को लिटाया गया। इसके बाद उन्हें अस्पताल भेजा गया।

15 सवारियों को लेकर निकला था ऑटो
पुलिस के अनुसार, मौदहा से एक ऑटो 15 सवारियों को लेकर निकला था। सभी भरुवा सुमेरपुर जा रहे थे। ऑटो मौदहा थाना क्षेत्र के मकरांव गांव के पास पहुंची थी। तभी अचानक कानपुर की तरफ से आए पिकअप ने सामने से टक्कर मार दी। टक्कर के बाद ऑटो हाइवे पर पलट गया। इसके बाद चीख पुकार मच गई।

आसपास के लोगों ने मौके पर पहुंचकर घायलों को बाहर निकाला। पुलिस को भी सूचना दी। बताया जा रहा है कि ऑटो में क्षमता से अधिक लोग सवार थे। सीओ विवेक यादव ने बताया कि हादसे में 8 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 7 लोग गंभीर घायल हैं।

इटावा में हुए हादसे की खबर यहां पढ़ सकते हैं- डीसीएम ने बाइक को मारी टक्कर, एक युवक जिंदा जला

प्रत्यक्षदर्शी ने कहा- मेरे सामने ऑटो ड्राइवर ने दम तोड़ा
प्रत्यक्षदर्शी सुंदरलाल ने बताया, 'मैं हाइवे पर जाम देखकर मौके पर पहुंचा था। देखा कि एक आम से लदा पिकअप सड़क पर पलटा हुआ था। पिकअप के पास एक ऑटो भी पलटा हुआ था। ऑटो पूरा टूट चुका था। ऑटो में बैठे यात्री उसी में फंसे हुए थे। कुछ लोग सड़क पर भी गिरे हुए थे। सभी बुरी तरह से घायल थे। किसी का हाथ टूट गया था तो किसी का पैर। ऑटो के ड्राइवर ने मेरे सामने ही दम तोड़ा।

पहले तो समझ नहीं आ रहा था कि किसको पहले बाहर निकालूं। उसके बाद हिम्मत करके आम के ढेर को हटाया। ढेर के नीचे एक बच्ची दबी हुई थी। जिसकी मौत हो चुकी थी। उसके शव को उठाकर किनारे रखा। उसके बाद ऑटो में फंसे लोगों को बाहर निकाला।'

घायल महिला के पास बच्चा रो रहा था। पास ही उसकी घायल मां सड़क पर दर्द से कराह रही थी।
घायल महिला के पास बच्चा रो रहा था। पास ही उसकी घायल मां सड़क पर दर्द से कराह रही थी।

अपना दर्द भुलाकर बेटे को सहलाती नजर आई महिला
हादसे के बाद हाइवे पर घायल इधर-उधर तड़पते नजर आए। एक घायल महिला हाइवे पर पड़ी थी। पास ही उसका 3 साल का बेटा रो रहा था। उसकी शर्ट पर भी खून लगा था। दर्द से कराहती मां अपना दर्द भुलाकर बेटे को सहलाती दिखी। यह दृश्य जिसने भी देखा, उसका कलेजा कांप उठा।

हादसे के बाद आसपास के लोगों ने राहत-बचाव शुरू किया। साथ ही पुलिस को भी सूचना दी। पुलिस ने एंबुलेंस, हाईवे अथॉरिटी सहित प्राईवेट गाड़ियों से घायलों को सरकारी अस्पताल पहुंचाया है। सभी घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने घायलों को अस्पताल भेजकर हाइवे पर यातायात बहाल करवाया।
पुलिस ने घायलों को अस्पताल भेजकर हाइवे पर यातायात बहाल करवाया।

4 मृतकों की हुई शिनाख्त, 4 की बाकी
इस हादसे में 35 साल के श्यामबाबू, उनकी दो बेटियां रागिनी (14 साल) और दीपांजलि (07 साल) की मौत हुई है। श्याम टेढ़ा गांव के रहने वाले थे। इनके अलावा इंगोहटा के 22 साल के राजेश ने भी दम तोड़ा है। बाकी 4 मृतकों की शिनाख्त नहीं हो सकी है। मौके पर सदर विधायक मनोज प्रजापति भी पहुंचे। उन्होंने घायलों से उनका हालचाल जाना। उन्होंने कहा, 'मृतकों को प्रशासन की तरफ से मुआवजा दिलाया जाएगा। घायलों की भी मदद होगी।'

खबरें और भी हैं...