पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

गोरखपुर में महिला ड्राइवर पूजा ने दौड़ाई इलेक्ट्रिक बस:नगर निगम से गोरखनाथ मंदिर तक हुआ बसों का ट्रायल, बोलीं- महिलाओं को चुनौती वाले कार्य स्वीकार करने चाहिए

गोरखपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में बस से किसी महिला ड्राइवर को फर्राटा भरते देख हर कोई हैरान रह गया। - Money Bhaskar
शहर में बस से किसी महिला ड्राइवर को फर्राटा भरते देख हर कोई हैरान रह गया।

गोरखपुर शहर में चलने वाली इलेक्ट्रिक बसों का बुधवार को सफल ट्रायल रन किया गया। ट्रायल रन की की शुरुआत नगर निगम कार्यालय से शुरू हुई। आधा दर्जन बसों पर नगर निगम, पीएमआई और परिवहन निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों ने सवार होकर ट्रायल रन किया। लगभग डेढ़ घंटे में बसों ने गोरखनाथ मंदिर तक जाने-आने की यात्रा पूरी की। इस दौरान खास बात यह रही कि गोरखपुर की एकमात्र महिला बस ड्राइवर पूजा प्रजापति ने पहली बार महानगर की सड़कों पर बस दौड़ाई। शहर में बस से किसी महिला ड्राइवर को फर्राटा भरते देख हर कोई हैरान रह गया।

सबसे आगे चल रही बस में नगर निगम के महापौर सीताराम जायसवाल, उप सभापति ऋषि मोहन वर्मा, पार्षद आलोक सिंह विशेन, पार्षद देवेंद्र गौड, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, उप नगर आयुक्त आर. बी. सिंह, मुख्य अभियंता सुरेश चंद्र सवार रहे। नगर आयुक्त ने कहा कि जल्द ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बसों का शुभारंभ कराया जाएगा।

पुरुषों के दबदबे वाले क्षेत्र में पिछले दस सालों से पूजा एक्टिव हैं। वह ट्रक, टैंकर, ट्रेलर चला रही हैं।
पुरुषों के दबदबे वाले क्षेत्र में पिछले दस सालों से पूजा एक्टिव हैं। वह ट्रक, टैंकर, ट्रेलर चला रही हैं।

10 साल से बस, ट्रक, टैंकर, ट्रेलर चला रही हैं पूजा
पीएमआई की बसों की एकमात्र महिला चालक पूजा कुमारी इलेक्ट्रिक बस से सुरक्षित सफर कराएंगी। पुरुषों के दबदबे वाले क्षेत्र में पिछले दस सालों से पूजा एक्टिव हैं। वह ट्रक, टैंकर, ट्रेलर चला रही हैं। गोरखपुर के डिभिया गांव की रहने वाली पूजा सीआरडीपीजी कालेज से राजनीति शास्त्र से एमए कर रही हैं। टाटा मोटर्स की ओर से आयोजित होने वाले ट्रक रेस में भी वह शामिल होती रही हैं।

पूजा उन महिलाओं के लिए एक मिसाल हैं जो इसे छोटा या पुरुषों का काम मानती हैं। पूजा कहती हैं- दुनिया तेजी से बदल रही हैं। महिलाएं लड़ाकू विमान उड़ा रही हैं। अब महिलाओं को अपनी सोच में बदलाव लाकर नए और चुनौती वाले कार्य स्वीकार करने चाहिए।

पूजा ने बताया कि शहर में अगर कोई ड्राइविंग एकेडमी खुली और उनको मौका मिला तो वह महिलाओं को निशुल्क ड्राइविंग की ट्रेनिंग देंगी।
पूजा ने बताया कि शहर में अगर कोई ड्राइविंग एकेडमी खुली और उनको मौका मिला तो वह महिलाओं को निशुल्क ड्राइविंग की ट्रेनिंग देंगी।

जिम्मेदारी मिली तो फ्री देंगे ट्रेनिंग
पूजा ने बताया कि शहर में अगर कोई ड्राइविंग एकेडमी खुली और उनको मौका मिला तो वह महिलाओं को निशुल्क ड्राइविंग की ट्रेनिंग देंगी। उन्होंने कहा कि जो महिलाएं शिक्षित होने के बाद भी बेराजगार हैं, उन्हें ड्राइविंग की ट्रेनिंग लेकर काम शुरू करना चाहिए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उन्हें एक मौका मिला है। वह इलेक्ट्रिक सिटी बस में चालक के रूप में अपनी सेवाएं देंगी।

यह होगी बसों की खासियत

  • सुरक्षित, सुखद यात्रा के लिए मुफीद हैं बसें
  • हर सीट पर लगा पैनिक बटन।
  • इकोफ्रेंडली, प्रदूषण मुक्त।
  • 28 सीटर, जीपीएस सुविधा युक्त।
  • डबल नाजिल से 45 मिनट में चार्ज होने की क्षमता।
  • सीट पर चार्जिंग प्वाइंट भी लगा है।
  • डिस्प्ले बोर्ड व एनाउंसमेंट से मिलेगी जानकारी।
  • म्यूजिक सिस्टम।
  • अग्नि शमन यंत्र।
  • सांसद, विधायक व दिव्यांगों के लिए दो-दो तथा महिलाओं के लिए चार सीट रिजर्व
खबरें और भी हैं...