पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

गोरखपुर में CM योगी ने किया प्रभु श्रीराम का राजतिलक:बोले- प्रभु श्रीराम के आदर्शों पर विकास की बुलंदियों को छू रहा नए भारत का नया उत्तर प्रदेश

गोरखपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी शुक्रवार शाम श्री श्री मानसरोवर मंदिर रामलीला समिति की तरफ से आयोजित प्रभु श्रीराम के राजतिलक समारोह को संबोधित कर रहे थे। - Money Bhaskar
सीएम योगी शुक्रवार शाम श्री श्री मानसरोवर मंदिर रामलीला समिति की तरफ से आयोजित प्रभु श्रीराम के राजतिलक समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जहां नेतृत्व के प्रति निष्ठा होती है वहां सफलता भी सुनिश्चित होती है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की कथा से भी यही संदेश मिलता है। आज नए भारत का नया उत्तर प्रदेश प्रभु श्रीराम के आदर्शों का अनुसरण कर तेजी से आगे बढ़ रहा है। हरेक क्षेत्र में विकास की बुलंदियों को छू रहा है।

सीएम योगी मानसरोवर मंदिर रामलीला समिति की तरफ से आयोजित प्रभु श्रीराम के राजतिलक समारोह को संबोधित कर रहे थे।
सीएम योगी मानसरोवर मंदिर रामलीला समिति की तरफ से आयोजित प्रभु श्रीराम के राजतिलक समारोह को संबोधित कर रहे थे।

राजतिलक समारोह में शामिल हुए सीएम योगी
सीएम योगी शुक्रवार शाम श्री श्री मानसरोवर मंदिर रामलीला समिति की तरफ से आयोजित प्रभु श्रीराम के राजतिलक समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जब तक घर-घर मे प्रभु श्रीराम की कथा का गान होगा, नेतृत्व के प्रति आमजनमानस एकजुट होगा तो दुनिया में कोई भी भारत का बाल बांका नहीं कर पाएगा। त्रिलोकविजयी रावण जिससे इंद्र भी थर्राते थे, को श्रीराम ने वानर, भालू और वनवासी समाज की सेना को साथ लेकर परास्त किया।

इस सेना ने श्रीराम के नेतृत्व के प्रति अटूट निष्ठा के साथ सभी आदेशों का अक्षरशः पालन कर सफलता का नया आदर्श प्रस्तुत किया। यह प्रमाण है कि सात्विक नेतृत्व में बड़ी से बड़ी ताकत को पराजित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आमजनमानस में नेतृत्व की नीति में कोई खोट नजर नहीं आती है तो सफलता अवश्य मिलती है। अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण इसी का द्योतक है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम जिसकी पूजा करते हैं, उसके अनुरूप नहीं सकते तो पूजा सफल नहीं हो सकती है
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम जिसकी पूजा करते हैं, उसके अनुरूप नहीं सकते तो पूजा सफल नहीं हो सकती है

प्रभु श्रीराम के आदर्शों को अपनाने की आवश्यकता
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम जिसकी पूजा करते हैं, उसके अनुरूप नहीं सकते तो पूजा सफल नहीं हो सकती है। हमें व्यावहारिक जीवन में प्रभु श्रीराम के आदर्शों को अपनाने की आवश्यकता है। भाई-भाई के मतभेद की स्थिति हो, पिता-पुत्र, माता-पुत्र या पति-पत्नी के संबंध हों, या शत्रु-मित्र की पहचान करने की बात। हर स्थिति में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के आदर्श का स्मरण हमारा मार्गदर्शन करता है, नई ऊर्जा से ओतप्रोत करता है।

धर्म सिर्फ उपासना विधि नहीं बल्कि कर्तव्यपथ की प्रेरणा
सीएम योगी ने सभी प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह पर्व सत्य और न्याय के साथ धर्म पथ पर चलते हुए मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की अन्याय, अत्याचार और उत्पीड़न के प्रतीक रावण पर विजय की याद दिलाता है। उन्होंने कहा कि धर्म सिर्फ उपासना विधि नहीं है बल्कि यह कर्तव्यथ पर चलने की प्रेरणा है। प्रभु श्रीराम के आदर्श हमें कर्तव्यपथ की तरफ अग्रसर होने को प्रेरित करते हैं।

सीएम योगी ने सभी प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की शुभकामनाएं दी।
सीएम योगी ने सभी प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की शुभकामनाएं दी।

धैर्य व बुद्धिमता से संभव है संकट-चुनौती पर विजय
मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि हम धर्म पथ पर धैर्य व बुद्धिमता से आगे बढ़ें तो बड़ी से बड़ी चुनौती या बड़े से बड़े संकट में भी विजय संभव है। प्रभु श्रीराम के जीवन से हम सबको यही प्रेरणा मिलती है। भगवान विष्णु के मानव अवतार श्रीराम का जीवन हमें युगों युगों से हर परिस्थिति में धैर्य से चुनौती का मुकाबला करने की प्रेरणा देता रहा है।

दुनिया में सबसे भव्य होगा अयोध्या में श्रीराम का मंदिर
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच सौ वर्षों तक प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में गुलामी के जिन बादलों ने घेरकर भारत को बदनाम किया, एक-एक कर वे सभी छंटते गए हैं। लंबा संघर्ष, बड़ा आंदोलन हुआ। कोई ऐसा पथ नहीं था जिसका अनुसरण करते हुए रामभक्तों ने राम मंदिर के पुनर्निर्माण के अभियान को आगे न बढ़ाया हो। सत्य की जीत होती है क्योंकि न्याय सत्य के साथ रहता है। न्याय व सत्य को प्राप्त करने के लिए धर्म का मार्ग अनिवार्य है। अयोध्या के परिपेक्ष्य में आप सबने देखा होगा, यही हुआ। आज अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। यह दुनिया का सबसे भव्यतम मंदिर होगा।

खबरें और भी हैं...