पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57260.580.27 %
  • NIFTY17053.950.16 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47950-0.42 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62854-0.82 %

मनीष हत्याकांड में 6वां आरोपी गिरफ्तार:एक लाख के इनामी दरोगा विजय यादव ने गिरफ्तारी से बचने के लिए HC में दी थी अर्जी

गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
SIT रामगढ़ताल थाने पर विजय यादव से पूछताछ कर रही है।

मनीष गुप्ता हत्याकांड में 6वें आरोपी दरोगा विजय यादव को गोरखपुर पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। एक लाख रुपए के इनामी दरोगा को रेल म्यूजियम के पास से पकड़ा। पुलिस ने दरोगा को SIT के हवाले कर दिया है। SIT अब उससे रामगढ़ताल थाने पर पूछताछ कर रही है। वह इस केस का आखिरी आरोपी था। बाकी 5 आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। विजय ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में पुलिस की एफआईआर को चुनौती दी थी। ये भी पढ़ें

मनीष गुप्ता हत्याकांड में रामगढ़ताल थाने में इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसर्मी आरोपी हैं।
मनीष गुप्ता हत्याकांड में रामगढ़ताल थाने में इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसर्मी आरोपी हैं।

6 पुलिस वाले बनाए गए थे आरोपी
गोरखपुर में हुए मनीष गुप्ता हत्याकांड में रामगढ़ताल थाने में तैनात इंस्पेक्टर जेएन सिंह, दरोगा अक्षय मिश्रा, दरोगा राहुल दुबे, मुख्य आरक्षी कमलेश यादव, आरक्षी प्रशांत कुमार और दरोगा विजय यादव को आरोपी बनाया गया है। इसमें से पांच आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। जबकि जौनपुर का रहने वाला दरोगा विजय फरार था। उसे पकड़ने के लिए पुलिस की 16 टीमें दबिश दे रही थी।

विजय यादव ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में पुलिस की एफआईआर को चुनौती दी थी। पुलिस का दावा था कि कोर्ट में सुनवाई से पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जिसके बाद शनिवार को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। ये भी पढ़ें

  • 27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के होटल में पुलिस वालों पर मनीष को पीट-पीटकर मारने का आरोप लगा था।

जानिए अब तक क्या कुछ हुआ

  • 27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के होटल में पुलिस वालों पर मनीष को पीट-पीटकर मारने का आरोप लगा।
  • 28 सितंबर को पोस्टमॉर्टम के बाद तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या की FIR, 6 को सस्पेंड किया गया।
  • 29 सितंबर की सुबह परिजन शव लेकर कानपुर पहुंचे। सीएम से मिलने की जिद पर अड़े थे। अंतिम संस्कार करने से भी इनकार किया।
  • 30 सितंबर को प्रशासन के आश्वासन के बाद सुबह 5 बजे मनीष का अंतिम संस्कार किया गया। फिर उसी दिन सीएम ने मनीष की पत्नी से मुलाकात की।
  • 10 अक्टूबर की शाम रामगढ़ताल पुलिस ने इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार किया।
  • 12 अक्टूबर को पुलिस ने दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत कुमार को गिरफ्तार किया। 13 अक्टूबर को पुलिस ने मुख्य आरक्षी कमलेश यादव को गिरफ्तार किया था। ये भी पढ़ें
खबरें और भी हैं...