पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मारपीट और फायरिंग मामले की निष्पक्ष जांच की मांग:पेट्रोल पंप मालिक ने सीएम को लिखा पत्र, पंप कर्मचारियों को बताया निर्दोष

गोरखपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेट्रोल पंप मालिक नीलेश ने पत्र भेजकर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। - Money Bhaskar
पेट्रोल पंप मालिक नीलेश ने पत्र भेजकर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

गोरखपुर के चिउटहा गांव के पास स्थित पेट्रोल पंप पर बीते 24 जून की रात आठ बजे मारपीट और फायरिंग हुई थी। घटना के बाद पुलिस ने पंप मैनेजर सहित दो लोगों को पकड़ा था।अब पंप मालिक नीलेश पांडेय ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ और उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर गुहार लगाई है। पंप मालिक का कहना है कि मामले में उनके पंप के कर्मचारी निर्दोंष हैं। कहा कि पुलिस चाहे तो पंप मैनेजर और घटना में शामिल अन्य लोगों की काल डिटेल निकलवा ले। काल डिटेल निकलते ही घटना की सच्चाई सामने आ जाएगी। साथ ही पुलिस सीसीटीवी का डीबीआर अपने साथ ले गई है, उससे भी सारा सच सामने आ जाएगा।

यह हुई थी घटना
24 जून 2022 को चिउटहा पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भराने आए कार सवारों ने पैसा मांगने पर विवाद शुरू कर दिया। पेट्रोल पंपकर्मी को गाली और धमकी देना शुरू कर दिया। कर्मचारियों ने जब विरोध किया तो फोन कर अन्य लोगों को बुला लिया। मालिक ने बताया कि कार सवार शराब के नशे में थे। कुछ देर बाद पहुंचे कार सवारों के साथियों ने कर्मचारियों पर हमला कर दिया। इस दौरान गांव के लोग भी आ गए। जिसके बाद कार सवार फरार हो गए। वहीं कार सवारों के अन्य साथी जो बाइक से आए थे उनमे से एक ने पंप के पीछे छिपकर फाय​रिंग कर दिया। आक्रोशित ग्रामीणों नेयुवक को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया।

उधर पुलिस ने मामले में पंप मैनेजर संतोष कुमार पासवान और गौरव यादव को आरोपी बनाया है। आरोप है कि गोली चलाने वाले दीनदयाल सिंह,गौरव यादव, जितेंद्र मौर्या एवं कुछ अज्ञात जो घटना के दौरान दीन दयाल के साथ थे सब आपस में दोस्त हैं। अब पंप मालिक नीलेश पांडेय ने 24 जून 2022 को दीन दयाल सिंह, गौरव यादव, जीतेन्द्र मौर्या और संतोष पासवान के काल डिटेल की जांच कराने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...