पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुलाने पर भी थाने नहीं आए 676 ​​​​​​​हिस्ट्रीशीटर:गोरखपुर पुलिस को नजरअंदाज कर रहे दबंग, दरी पर बैठना समझते हैं शान के खिलाफ

गोरखपुर3 महीने पहलेलेखक: विष्णु त्रिपाठी
  • कॉपी लिंक

गोरखपुर पुलिस के बुलाने के बाद भी हिस्ट्रीशीटर थाने नहीं पहुंच रहे हैं। पुलिस ने एक महीने में अब तक चार से ज्यादा ‘दुराचारी सभा’ थानों पर की है। सभा में 1520 हिस्ट्रीशीटर में से अभी तक 844 ही थाने पर पहुंचे हैं। 676 अभी तक थाने नहीं पहुंचे। इसलिए उनकी प्रहरी ऐप सहित अन्य रजिस्टर से जुड़े सत्यापन का काम पूरा नहीं हो पाया है।

यह हिस्ट्रीशीटर थाने क्यों नहीं आ रहे हैं। इसको लेकर कई तरह की बातें सामने आ रही हैं। पुलिस का कहना है कि इनमें 125 तो जेल में हैं, जबकि जो दबंग हैं वह पुलिस के बुलावे को नजरअंदाज कर रहे हैं। क्योंकि थाने पर दबंग हिस्ट्रीशीटर दरी पर बैठना नहीं चाहते। इसे वह अपने शान के खिलाफ समझते हैं। हालांकि पुलिस जल्द ही अब ऐसे हिस्ट्रीशीटर के जमानतदारों की सभा बुलाएगी।

दुराचारी सभा में थाने में बैठे हिस्ट्रीशीटर से बात करते इंस्पेक्टर।
दुराचारी सभा में थाने में बैठे हिस्ट्रीशीटर से बात करते इंस्पेक्टर।

दबंग हिस्ट्रीशीटर नहीं पहुंच रहे थाने
SSP डॉ. विपिन ताडा के निर्देश पर सभी थानों पर हिस्ट्रीशीटर को बुलाया जा रहा है। हर रविवार को ‘दुराचारी सभा’ में उन्हें आकर संबंधित दस्तावेजों की प्रक्रिया पूरी कराई जा रही है। हिस्ट्रीशीटर की संख्या ज्यादा है। इसलिए हर रविवार को 25% हिस्ट्रीशीटर ही बुलाए जा रहे हैं।

पुलिस का कहना है कि अब दबंग या जुगाड़ वाले हिस्ट्रीशीटर थाने नहीं पहुंच रहे हैं। उन्हें लग रहा है कि पुलिस जमीन पर दरी बिछाकर बैठाएगी। जब उनकी फोटो सामने आएगी तब उनका भौकाल खत्म हो जाएगा। इसलिए वह थानेदार से लेकर बीट सिपाही तक से सेटिंग करने में जुटे हैं। हालांकि SSP आंकड़ों के हिसाब से यह देख रहे हैं कि कौन थानेदार कितने हिस्ट्रीशीटर को बुला रहा है और अब तक थाने पर न आने वाले हिस्ट्रीशीटर कौन-कौन हैं?

थाने न आने वाले हिस्ट्रीशीटर के जमानतदारों को बुलाएगी पुलिस
सभा में पहुंचने और न पहुंचने वाले हिस्ट्रीशीटर का डाटा हर थाने में जुटाया जा रहा है। चार सभा में जो हिस्ट्रीशीटर नहीं आए अब उनके जमानतदारों की पांचवीं सभा बुलाई जाएगी। इसका नाम ‘जमानतदार सभा’ होगा। जमानतदारों को चेताया जाएगा कि हिस्ट्रीशीटर को थाने में पेश करें।

पुलिस का कहना है कि शाहपुर थाने के हिस्ट्रीशीटर विनोद उपाध्याय, खजनी थाने के हिस्ट्रीशीटर दिलीप निषाद और शहजनवां थाने के हिस्ट्रीशीटर सुधीर सिंह सहित 676 हिस्ट्रीशीटर सभा में नहीं आए हैं। इनके जमानतदारों की सभा बुलाई जाएगी। झगहां थाने के हिस्ट्रीशीटर राघवेंद्र 6 साल से फरार है। बता दें कि हिस्ट्रीशीटर सुधीर सिंह बसपा नेता है। शहजनवां सीट से 2022 में विधानसभा चुनाव भी बसपा के टिकट पर लड़े थे।

यह तस्वीर राजघाट थाने की है। जहां सभा में हिस्ट्रीशीटर से इंस्पेक्टर बात कर रहे हैं।
यह तस्वीर राजघाट थाने की है। जहां सभा में हिस्ट्रीशीटर से इंस्पेक्टर बात कर रहे हैं।

क्राइम कंट्रोल के लिए दुराचारी सभा
दुराचारी सभा के जरिए थाना क्षेत्र के सभी हिस्ट्रीशीटर की क्लास थानेदार लेते हैं। हर रविवार को थानों पर लगने वाली इस सभा में उस एरिया के सभी चिह्नित हिस्ट्रीशीटर में से कम से कम 25% का वेरिफिकेशन होता है। एक बार में जो हिस्ट्रीशीटर थाने पर नही पहुंचता है। उसे दूसरे रविवार को बुलाया जाता है। इसी तरह से यह प्रक्रिया चलती रहती है।

SSP डॉ. विपिन ताडा का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर के कामकाज का ब्योरा रजिस्टर में दर्ज किया जाता है। उन्हें दोबारा अपराध की दुनिया में जाने से रोका जाता हैं। क्राइम कंट्रोल के लिए यह पहल महीनेभर से की जा रही है।

आइए, अब जानते हैं कि किन थानों में कितने हिस्ट्रीशीटर हैं...

थानाहिस्ट्रीशीटर की संख्याथाने आने वालों की संख्याशेष
बड़हलगंज874146
बांसगांव711754
बेलघाट281414
बेलीपार502228
कैंपियरगंज512328
कैंट31229
चौरीचौरा1034756
चिलुआताल694920
गगहा821963
गीडा472621
गोला533122
गोरखनाथ613724
गुलरिहा473611
हरपुर बुदहट382315
झंगहा833845
खजनी764630
खोराबार57489
कोतवाली472918
पीपीगंज654916
पिपराइच793148
राजघाट492227
रामगढ़ताल21210
सहजनवां382315
शाहपुर47425
सिकरीगंज48417
तिवारीपुर472423
उरूवा बाजार452322
कुल1520844676