पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर में 298 कोरोना केस मिले:3 प्राइवेट अस्पताल और 4 बीआरडी के डॉक्टर भी संक्रमित, एक्टिव केस की संख्या 2686 हुई

गोरखपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संक्रमितों में सात डॉक्टर, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के छात्र, जिला न्यायालय कार्यालय के पांच कर्मी समेत चार बच्चे शामिल हैं। - Money Bhaskar
संक्रमितों में सात डॉक्टर, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के छात्र, जिला न्यायालय कार्यालय के पांच कर्मी समेत चार बच्चे शामिल हैं।

गोरखपुर में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को 298 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। संक्रमितों में सात डॉक्टर, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के छात्र, जिला न्यायालय कार्यालय के पांच कर्मी समेत चार बच्चे शामिल हैं। इसके बाद से एक्टिव केस का आंकड़ा 2686 पहुंच गया है। संक्रमितों में निजी अस्पताल के तीन और बीआरडी मेडिकल कॉलेज के चार डॉक्टर समेत एमबीबीएस के कई छात्र, रेलवे कारखाना के दो कर्मी संक्रमित मिले हैं।

इनके अलावा संक्रमितों में एम्स के कई कर्मी भी शामिल हैं। संक्रमितों में राप्ती नगर में एक ही परिवार के चार लोग, सूरज कुंड में एक ही परिवार के पांच लोग, झरना टोला के एक ही परिवार के छह लोग, बशारतपुर एक ही परिवार के पांच लोग, पादरी बाजार और आवास विकास कॉलोनी में एक ही परिवार के तीन- तीन लोग, सहारा स्टेट में एक ही परिवार के तीन लोग संक्रमित मिले हैं। इनके अलावा दूसरे शहर से आने वाले यात्रियों के रेलवे स्टेशन पर किए गए जांच में 15 से अधिक यात्री भी संक्रमित पाए गए हैं।

शहर में मिले 256 संक्रमित

सीएमओ डॉ आशुतोष कुमार दूबे ने बताया कि संक्रमितों में 256 शहर और 42 ग्रामीण क्षेत्रों के रहने वाले हैं। इन मरीजों के मिलने के बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या पहली और दूसरी लहर मिलाकर 62292हो गई है। इसमें 58756 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। 850 की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस 2686 पहुंच गया है। अपील की है कि लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें।

90 प्रतिशत मरीजों को था सर्दी-जुकाम और बुखार
जिला अस्पताल, बीआरडी मेडिकल कॉलेज और एम्स की ओपीडी में लगातार कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। रविवार को तीनों जगहों पर 35 से अधिक मरीज अलग-अलग विभागों की ओपीडी में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें 90 प्रतिशत मरीजों को सर्दी-जुकाम और बुखार था। इसके अलावा इमरजेंसी में भी मरीजों के मिलना का सिलसिला जारी है।

खबरें और भी हैं...