पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनीष गुप्ता की हत्या में CBI को मिले अहम सुराग:CCTV देख फूट-फूटकर रोया होटल मैनेजर; मुख्य गवाह मान CBI जांच में जुटी

गोरखपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
CBI को मिले सबूतों और बयानों के मुताबिक इंस्पेक्टर जेएन सिंह और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा ने मनीष गुप्ता को पीटा है। - Money Bhaskar
CBI को मिले सबूतों और बयानों के मुताबिक इंस्पेक्टर जेएन सिंह और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा ने मनीष गुप्ता को पीटा है।

कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड की जांच कर रही CBI के हाथ मंगलवार को अहम सुराग लगे हैं। होटल कृष्णा पैलेस में जांच के दौरान जहां CBI को होटल में हर जगह खून के मिटाए गए दाग मिले, वहीं होटल मैनेजर आर्दश पांडेय CBI की फटकार लगते ही टूट गया। सूत्रों के मुताबिक उसने घटना से जुड़े कई चौकाने वाले खुलासे किए हैं। हालांकि पहले तो मनीष की पिटाई देखने की बात से इंकार करता रहा, लेकिन जब CBI ने उसे घटना का CCTV फुटेज दिखते हुए कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया और उसने सारे राज खोल दिए।

होटल मैनेजर को चश्मदीद मान रही CBI
सूत्रों का दावा है कि आर्दश पांडेय ने कबूल किया है कि पुलिस वालों ने ही मनीष की पिटाई की थी। अब तक CBI को मिले सबूतों और बयानों के मुताबिक इंस्पेक्टर जेएन सिंह और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा द्वारा पिटाई की बात सामने आई है। जिसमें कहा गया है कि पहले अक्षय मिश्रा हरबीर सिंह को पीटते हुए कमरा नंबर 512 से बाहर ले गया और इसी दौरान इंस्पेक्टर जेएन सिंह ने मनीष की पिटाई शुरू कर दी। हालांकि इस मामले की जांच कर रही CBI टीम के अधिकारी फिलहाल इसपर कुछ भी बोलने से इंकार कर रहे हैं। जबकि सूत्रों का दावा है कि CBI अब आर्दश पांडेय को घटना का चश्मदीत मानते हुए केस में गवाह बना सकती है।

मनीष के दोस्तों को फिर CBI ने किया तलब
आज बुधवार को भी दोपहर 12 बजे मनीष के दोस्तों और होटल मैनेजर और CBI ने पूछताछ के लिए एनक्सी भवन बुलाया है। इससे पहले मंगलवार को पूरे दिन CBI टीम होटल कृष्णा पैलेस और रामगढ़ताल थाने की फॉरेंसिक जांच करती रही। इस दौरान होटल के रूम नंबर 512 से लेकर रामगढ़ताल थाने की सरकारी जीप से CBI की फॉरेंसिक टीम ने नमूने जुटाए हैं।

इस दौरान मनीष के कानपुर से आए दोस्त हरबीर सिंह और प्रदीप सिंह भी पूरे दिन CBI के साथ मौजूद रहे। हालांकि दावा किया जा रहा है कि आज बुधवार की शाम तक हरबीर और प्रदीप वापस गुड़गांव लौट जाएंगे। CBI उनसे पहले ही पूछताछ कर चुकी है। मंगलवार को जांच के दौरान जब CBI ने जब घटना का CCTV फुटेज देखा तो उसमें हरबीर और प्रदीप की बताई गई टाइमिंग में कुछ अंतर मिला। इसपर टीम ने दोनों से फिर अलग से भी बात की है।

आज कोर्ट में पेश होंगे आरोपी 6 पुलिस वाले
मनीष गुप्ता के हत्या में आरोपित बनाए गए सभी 6 पुलिस वालों की न्यायिक हिरासत 1 दिसम्बर को पूरी हो रही है। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस दौरान CBI भी कोर्ट में मौजूद रहेगी। वहीं, आज CBI आरोपित पुलिस वालों को कस्टडी रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अपील भी कर सकती है। इसके बाद टीम आरोपितों को लेकर उनकी वर्दी और आलाकत्ल बरामद करेगी।

खबरें और भी हैं...