पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Historysheeter Pawan Singh Said Abusive Words For UP CM Yogi Adityanath While Intoxication, As Soon As The Case Was Registered Against Him He Apologized By Posting Video On Social Media

हिस्ट्रीशीटर पवन सिंह की तलाश में लखनऊ आई गोरखपुर पुलिस:लाइव आकर CM को कहे थे अपशब्द, केस दर्ज होते ही उतरा नशा, सोशल मीडिया पर मांगी माफी

गोरखपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उसने खुद सोशल मीडिया पोस्ट कर लोगों से माफी मांगी है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। - Money Bhaskar
उसने खुद सोशल मीडिया पोस्ट कर लोगों से माफी मांगी है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कभी CM योगी आदित्यनाथ के करीबी रहे और वर्तमान में सपा नेता हिस्ट्रीशीटर पवन सिंह की तलाश में पुलिस की टीम लखनऊ रवाना हो गई है। उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अपशब्द कहने के मामले में गोरखनाथ थाने में केस दर्ज होते ही हिस्ट्रीशीटर का नशा भी उतर गया है। रविवार को उसने खुद सोशल मीडिया पोस्ट कर लोगों से माफी मांगी है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गोरखनाथ थाने का हिस्ट्रीशीटर है पवन सिंह
पवन सिंह गोरखनाथ थाना क्षेत्र का हिस्ट्रीशीटर व गैंगस्टर है। पवन सिंह शुक्रवार की रात शराब के नशे में फेसबुक पर लाइव हुआ था। उसने सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। हालांकि, वीडियो सामने आने के बाद शनिवार सुबह पवन ने अपने वीडियो डिलीट भी कर दिया।

हालांकि, वीडियो सामने आने के बाद भाजपा नेता सूर्य प्रकाश शर्मा की तहरीर पर गोरखनाथ पुलिस ने केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। एसपी सिटी सोनम कुमार ने बताया कि पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें हिस्ट्रीशीटर की तलाश में लगाई गई हैं। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पवन सिंह पर दर्ज हैं छह से ज्यादा मुकदमे

पवन सिंह की गोरखनाथ थाने में हिस्ट्रीशीट खुली है। उसके खिलाफ शाहपुर में दोहरे हत्याकांड, गोरखनाथ में रुपये हड़पने और हत्या के प्रयास सहित छह मुकदमे दर्ज हैं। मुख्यमंत्री के जनता दरबार में शिकायत के बाद गोरखनाथ थाने में केस दर्ज कर पवन सिंह की पुलिस ने तलाश शुरू कर दी थी।

बाद में दबाव बढ़ने पर अपने साथियों के साथ गैंगस्टर कोर्ट में हाजिर हो गया था। शुक्रवार की रात फेसबुक पर लाइव हुए पवन सिंह ने एक बार फिर इसी घटना का जिक्र कर मुख्यमंत्री योगी को अपशब्द कहे हैं।

बांट रहा एक एक लाख रुपये

इधर, चुनाव से पहले राजनीति के चक्कर में पवन हत्या आदि घटनाओं के पीड़ित को एक-एक लाख रुपया बांट रहा था। उसकी संपत्ति, बंदूक आदि को भी जब्त किया जा चुका है। उसके नाम से कई फेसबुक एकाउंट चलते हैं। वह ब्याज पर पैसे देने का भी काम करता है। वह कम समय में रईस बनने वाले लोगों की सूची में है। इनकम टैक्स, पुलिस और खुफिया विभाग की भी उस पर नजर है। वह गोरखपुर में पोस्टर वाले नेता के रूप चर्चित है।