पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर दौरे पर पहुंचे वन मंत्री डॉ अरुण कुमार सक्सेना:चिड़ियाघर का निरीक्षण कर बोले- जून में गोरखपुर आएगा सफेद बाघ; गोरखनाथ, बुढ़िया माता और चित्रगुप्त मंदिर भी गए

गोरखपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वन एवं पर्यावरण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ अरुण कुमार सक्सेना गुरुवार को पहली बार गोरखपुर दौरे पर पहुंचे। - Money Bhaskar
वन एवं पर्यावरण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ अरुण कुमार सक्सेना गुरुवार को पहली बार गोरखपुर दौरे पर पहुंचे।

यूपी सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ अरुण कुमार सक्सेना गुरुवार को पहली बार गोरखपुर दौरे पर पहुंचे। यहां पहुंचते ही सबसे पहले उन्होंने शहीद अशफाक उल्ला खॉ प्राणी उद्यान का निरीक्षण किया। साथ ही वन अधिकारियों संग बैठक भी की।

वन मंत्री डॉ अरुण कुमार सक्सेना ने कहा जून से अंतिम सप्ताह तक शहीद अशफाक उल्ला खॉ प्राणी उद्यान गोरखपुर में सफेद बाघ लाया जाएगा। इसके लिए केंद्रीय प्राणी उद्यान प्राधिकरण से अनुमति मांगी गई है। मोहक छवि और नीली आंखों वाले सफेद बाघ पर्यटकों को आकर्षित करेंगे।

निर्धारित समय में सफेद बाघ यहां लाए जाएंगे। चेन्नई प्राणी उद्यान एक सफेद बाघ देने के लिए राजी है।
निर्धारित समय में सफेद बाघ यहां लाए जाएंगे। चेन्नई प्राणी उद्यान एक सफेद बाघ देने के लिए राजी है।

चेन्नई से आएंगे सफेद बाघ
उन्होंने कहा कि गोरखपुर में सफेद बाघ लाया जाना सरकार की 100 दिन की कार्य योजना में शामिल है। निर्धारित समय में सफेद बाघ यहां लाए जाएंगे। चेन्नई प्राणी उद्यान एक सफेद बाघ देने के लिए राजी है। एक अन्य सफेद बाघ के लिए देश के दूसरे प्राणी उद्यान से सम्पर्क किया जा रहा है। उन्होंने शहीद अशफाक उल्ला खॉ प्राणी उद्यान में ज्यादा से ज्यादा छायादार पौधे लगाए जाने के अधिकारियों को निर्देशित किया।

7-डी थियेटर में एडवेंचर में देखी फिल्म
कहा कि पयर्टकों की सुविधाओं का ध्यान पहली प्राथमिकता रखा जाए। वन मंत्री ने प्राणी उद्यान में साफ सफाई और उसकी खूबसूरती की तारीफ भी की। उन्होंने 7 डी थियेटर में एडवेंचर फिल्म का भी आनंद लिया।

इस दौरान उनके साथ गोरखपुर प्राणी उद्यान सोसाइटी अध्यक्ष विक्रम चौधरी, मुख्य वन संरक्षक पूर्वी गोरखपुर मंडल वी के चोपड़ा, मुख्य वन संरक्षक गोरखपुर मंडल भीमसेन,निदेशक चिड़ियाघर डॉ राजा मोहन, प्रभागीय वनाधिकारी विकास यादव, पशु चिकित्सक डॉ योगेश प्रताप सिंह, हेरिटेज फाउंडेशन के ट्रस्टी नरेंद्र कुमार मिश्र एवं मनीष चौबे समेत वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

वन मंत्री ने प्राणी उद्यान में साफ सफाई और उसकी खूबसूरती की तारीफ भी की।
वन मंत्री ने प्राणी उद्यान में साफ सफाई और उसकी खूबसूरती की तारीफ भी की।

वेटनरी चिकित्सको के कॉडर पर होगा विचार
वन विभाग में वेटनरी चिकित्सकों के कॉडर बनाए जाने पर वन मंत्री ने कहा कि इस बारे में गंभीरता से विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कई राज्यों में इस दिशा में कदम उठाए गए हैं। आश्वस्त किया कि यूपी में मानव वन्यजीव संघर्ष से प्रभावित जिलों में ऐसी नियुक्तियों पर विचार किया जा सकता है।

वनमंत्री ने रंगीन मछलियां प्राणी उद्यान के कृत्रिम लेक में छोड़ी।
वनमंत्री ने रंगीन मछलियां प्राणी उद्यान के कृत्रिम लेक में छोड़ी।

वन मंत्री ने कृत्रिम लेन में छोड़ी रंगीन मछलियां
प्राणी उद्यान का निरीक्षण करने पहुंचे वनमंत्री ने रंगीन मछलियां प्राणी उद्यान के कृत्रिम लेक में छोड़ी। कोई कार्प प्रजाति की इन मछलियों को छोड़ते हुए उन्होंने उम्मीद जताई कि वे मछलिया पयर्टकों को आर्षित करेगी। उन्होंने स्लॉथ बियर, बारासिंहा, ब्लैकबग, तेंदुआ, बाघ और बब्बर शेर के बाड़ा पर रुक कर देखा। प्राणी उद्यान परिसर में पीपल का पौधा भी लगाया।

मंदिरों में भी लगाई हाजिरी
गैंडा हर और गौरी के बाड़ा पर पहुंच दोनों को केला भी खिलाया। होप्पो के बाड़ा पर भी गए। प्राणी उद्यान से निकलने के बाद वन मंत्री गोरखनाथ मंदिर पहुंचे और गुरु गोरखनाथ का दर्शन किया। इसके पूर्व बुढ़िया माता मंदिर में दर्शन पूजन कर रामगढ़ पौधशाला, एग्रोफारेस्ट्री पौधशाला और अग्रिम मृद्रा कार्य का निरीक्षण किया। गोरखपुर वन प्रभाग द्वारा विनोद वन में निर्मित किए गए आरोग्य वन का भी निरीक्षण किया। शाम को निरीक्षण के लिए चित्रगुप्त मंदिर बक्शीपुर पहुंचे।

खबरें और भी हैं...