पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंपियरगंज में कूड़ा डंपिंग यार्ड में लगी आग:दमकलकर्मियों ने चार घंटे में आग पर पाया काबू, 15 दिन में दूसरी बार लगी आग

कैंपियरगंज, गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कूड़े के ढेर में लगी आग को बुझाते दमकलकर्मी। - Money Bhaskar
कूड़े के ढेर में लगी आग को बुझाते दमकलकर्मी।

कैंपियरगंज क्षेत्र के गोरखपुर-सोनौली मार्ग पर बगहीभारी के समीप पीपीगंज नगर पंचायत द्वारा गिराए जा रहे कूड़े की ढेर में आग लग गयी। नगर पंचायत कर्मचारियों और दमकलकर्मियों की मदद से करीब चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

हाईवे के किनारे बना है अस्थायी डंपिंग यार्ड

पीपीगंज नगर पंचायत में कूड़ा कचरे के निस्तारण के लिए कोई स्थायी स्थान नहीं है। नगर पंचायत के बगहिभारी में सोनौली हाईवे के दोनों पटरियों के बगल में कुछ वर्षों से पूरे नगर का कूड़ा गिराया जा रहा था, जिससे काफी कूड़ा इकट्‌ठा हो गया है। जिसमें अभी दो सप्ताह पहले भी आग लग गयी थी। जिससे आसपास के रहने वाली आबादी के साथ ही राहगीरों को भी दो दिनों तक आग और उससे उठने वाले धुएं से काफी दिक्कत हुई थी।

बृहस्पतिवार को फिर धधक उठी कूड़े से आग

बृहस्पतिवार दोपहर अचानक एक बार फिर कूड़े में आग लग गई। कूड़े में लगी आग की लपटें इतनी तेज थी कि हाईवे से गुजरने वाले वाहन चालकों को भी आवागमन में दिक्कत होने से अफरा-तफरी मच गई। हाईवे पर आवागमन भी कुछ देर के लिए बाधित हो गया।

सूचना पर पहुंचे अधिशाषी अधिकारी महेंद्र पांडेय ने नगर पंचायत के सफाई कर्मचारियों की मदद से टैंकर के पानी से आग बुझाना शुरू किया। घंटों कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू नहीं मिलते देख अधिशाषी अधिकारी ने पुलिस एवं फायर ब्रिगेड को बुलवाया। जिसके बाद फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने करीब चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शाम 4 बजे तक आग पर काबू पा लिया, जिससे आवागमन के साथ ही स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली।

स्थानीय लोगों ने कूड़ा गिराने का किया विरोध

अस्थायी रूप से बने कूड़ा डंपिंग यार्ड से उठने वाली दुर्गंध से आसपास के लोग नगर पंचायत और कई बार आपत्ति भी दर्ज करा चुके हैं लेकिन, स्थायी जगह नहीं होने से नगर पंचायत द्वारा कूड़ा यही गिराया जाता है।

खबरें और भी हैं...