पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोंडा में वकीलों का प्रर्दशन, अधिकारी को बनाया बंधक:डीएम और विधायक को भी नहीं मिली एंट्री, तहसीलदार को हटाने की है मांग

गोंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोंडा सदर तहसील के तहसीलदार से नाराज बार एसोसिएशन गोंडा के वकीलों ने प्रर्दशन किया। प्रर्दशन की वजह से मुख्य राजस्व अधिकारी तकरीबन एक घंटे तक मीटिंग हॉल में बंद रहे। वहीं एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे विधायक और डीएम को भी हॉल में एंट्री नहीं दी गई। वकीलों की मांग है कि तहसीलदार को हटाया जाये तभी सदर तहसील में ढंग से काम हो पायेगा।

एक महीने से तहसीलदार के खिलाफ चल रहा है प्रर्दशन

वकीलों का नेतृत्व कर रहे है रविचंद्र त्रिपाठी ने बताया कि वकील तहसीलदार के रवैये को लेकर बीते एक महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। इसके बावजूद भी उनका तबादला या उन्हें हटाया नहीं जा रहा है। शनिवार को भी वकीलों ने प्रर्दशन किया। दरअसल, सदर तहसील के हॉल में घरौनी कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें जिले के उच्चधिकारीयों को शामिल होना था। जिसकी भनक लगते ही वकील तहसील पहुंच गये और नारेबाजी करते हुए मुख्य गेट पर कब्जा कर लिया।

तहसीलदार फाइलों को रोके रखते हैं

गोंडा बार एसोसिएशन अध्यक्ष रविचंद्र त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि पिछले 4 माह से तहसीलदार द्वारा वादकारियों को परेशान किया जा रहा है। सैकड़ों फाइलों को डम्प कर रखा है। निस्तारण नही किया जा रहा है। ऐसे तहसीलदार को तत्काल हटाया जाए।

विधायक ने दिया आश्वासन

इसी बीच सदर विधायक प्रतीक भूषण शरण सिंह भी मौके पर पहुंच गए। वकीलों ने सदर विधायक को भी याद दिलाया कि इस तहसीलदार को हटाने के लिए आप से भी आग्रह किया गया था। आपने भी आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक इन्हें नहीं हटाया गया। हम लोगों की एक ही मांग है तहसीलदार को तत्काल हटाया जाए। सदर विधायक ने अधिवक्ताओं को एक बार फिर आश्वासन दिया कि शासन से वार्ता कर कार्यवाही करवाता हूं। हालांकि, विधायक से आश्वासन मिलने के बाद अधिवक्ता आज का कार्यक्रम समाप्त कर वापस चले गए। जिससे विधायक और जिला अधिकारी भी घरौनी कार्यक्रम में पहुंच सके।

खबरें और भी हैं...