पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एंबुलेंस में हुई डिलेवरी:गोंडा में 24 घंटे में 4 महिलाओं का एंबुलेंस कर्मियों ने सुरक्षित कराया प्रसव, चारों बच्चियां स्वथ्य

गोंडा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोंडा - Money Bhaskar
गोंडा

गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं के लिए एम्बुलेंस वरदान साबित हो रही है। एम्बुलेंस टीम ने एक महिला का सुरक्षित प्रसव कराया है। गोंडा में पिछले 24 घंटे में 4 महिलाओं ने एंबुलेंस पर चार बेटियों को जन्म दिया। गोंडा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गंज के अंतर्गत कल रुबी पत्नी अली हुसैन ग्राम गढ़वा एवं पूनम चौधरी पत्नी राम मूरत हीरापुर कामयार अस्पताल लाते समय एंबुलेंस में बच्चियों को जन्म दिया है। वहीं आज दिनारी गांव निवासी शहनाज और सुनीता निवासी गढ़वा अस्पताल लाते समय एंबुलेंस में बच्चियों को जन्म दिया है। इस तरह पिछले 24 घंटे में अकेले सामुदायिक स्वास्थ केंद्र कर्नलगंज अंतर्गत 4 महिलाओं ने अलग-अलग एंबुलेंस में अस्पताल लाते समय सुरक्षित बच्चियों को जन्म दिया है।

करनैलगंज क्षेत्र के ग्राम गोड़वा निवासी रुबीना पत्नी अली हुसैन को कल अचानक प्रसव पीड़ा शुरू हुई। जिस पर रुबीना के परिजनों द्वारा एम्बुलेंस के लिए 102 पर कंट्रोल रूम फोन किया गया। वहीं कुछ मिनटों बाद एम्बुलेंस उनके घर पहुंची।

हुआ सुरक्षित प्रसव

एंबुलेंस प्रसूता को लेकर जैसे ही अस्पताल के लिए निकली, कुछ ही दूरी पर महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी। जिस पर 102 एम्बुलेंस के एमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन संजीव कुमार पाठक और पायलट राजदत्त अवस्थी द्वारा एम्बुलेंस सड़क के किनारे रोक दिया। साथ ही घर की महिलाओं के सहयोग से प्रसूता का सुरक्षित प्रसव करवाया गया।

जिसके उपरांत प्रसूता को नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ( सीएचसी ) करनैलगंज में लाकर भर्ती करवाया गया। जहां मौजूद चिकित्सकों ने जच्चा बच्चा दोनों को स्वस्थ बताया। इसके बाद एम्बुलेंस ईएमटी संजीव पाठक ने इसकी सूचना 108/102 एम्बुलेंस के जिला प्रभारी श्याम सुंदर यादव को दी।

चारों बच्चियां स्वस्थ

बच्चियों की पुष्टि करते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर एस सी चंद्रा ने बताया कि दो कल और दो आज महिलाओं को अस्पताल लाते समय ऐंम्बुलेंस पर एंबुलेंस कर्मियों ने प्रसव कराया। सभी लड़कियां हैं। सभी स्वस्थ्य हैं। अस्पताल लाने के बाद उपचार कर घर भेज दिया गया है।