पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बीजेपी विधायक ने वित्त एवं लेखा अधिकारी पर लगाए आरोप:10 करोड़ रुपए का घोटाला करने का आरोप, विधायक ने सीएम से की शिकायत

गोंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोंडा जिले में बेसिक शिक्षा विभाग में तैनात वित्त एवं लेखा अधिकारी श्री राम मौर्य के ऊपर आर्थिक लाभ लेकर सरकारी धन में 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लगाने का गंभीर आरोप लगा है। तरबगंज विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक प्रेम नारायण पाण्डेय ने मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री को शिकायती पत्र लेकर पूरे मामले को लेकर मंडल स्तरीय कमेटी से जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।

पूरा मामला बेसिक शिक्षा विभाग के वित्त एवं लेखाधिकारी का है इस प्रकरण की शिकायत जिलाध्यक्ष कृष्ण प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री से की है कृष्ण प्रताप ने लेखाधिकारी श्री राम मौर्या पर आरोप लगाया है की आर्थिक लाभ लेकर दस करोड़ से ऊपर की चपत राजकोष को लगाई है। एनपीएस की कटौती जो राज्य सरकार के महत्वपूर्ण कार्य में है वह नहीं की है।

कार्यालय में लगा हुआ ताला।
कार्यालय में लगा हुआ ताला।

एनपीएस में घोटाले का आरोप

जनपद गोंडा में तैनात लगभग 8200 अध्यापकों का जीपीफ़ कट रहा है। 1200 अध्यापकों का एनपीएस फार्म भरवाया गया है लेकिन अभी तक ने 6200 अध्यापकों का एनपीएस का फॉर्म तक नहीं भरवाया है। अध्यापकों का एनपीएस नहीं कट रहा है वित्त एवं लेखाधिकारी श्रीराम मौर्या ने 10 करोड़ 54 लाख 24 हजार आठ सौ रुपए का राजकीय कोष को चपत लगाया है। फिलहाल बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री को पूरे मामले की शिकायत की है। वहीं वित्त एवं लेखाधिकारी श्री राम मौर्या ने इस प्रकरण पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

कार्यालय न आने का आरोप

वहीं विभागीय कर्मचारियों ने बताया कि जब से वित्त एवं लेखा अधिकारी के पद पर श्री राम मौर्या ने चार्ज लिया है। तभी से कार्यालय नहीं आते हैं जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है 60-70 किलोमीटर दूर से टीचर अपनी समस्याओं को लेकर वित्त लेखा अधिकारी के पास आते हैं लेकिन यह दूसरों से नहीं मिलते हैं फोन करने पर फोन भी नहीं उठाते हैं आए दिन इनके वित्त एवं लेखाधिकारी कार्यालय में ताला लगा रहता है।

खबरें और भी हैं...