पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

11 टीबी मरीजों को समाजसेवी ने लिया गोद:पीएचसी प्रभारी ने टीबी मुक्त भारत की दिलाई शपथ, जमानियां में 150 मरीजों जा चल रहा इलाज

जमानियां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जमानियां के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर शुक्रवार को सेवा पखवारा के तहत समाजसेवी टीबी के 11 मरीजों को गोद लिया गया। इस दौरान मरीजों को एक किलो चना, एक किलो सत्तू, 500 ग्राम मूंगफली, 500 ग्राम न्युट्रिला, एक पैकेट दलिया और एक किलो गुड़ का वितरण किया गया।

केंद्र प्रभारी डा. रविरंजन ने बताया कि केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर से टीबी मुक्त करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। बताया कि जमानियां में वर्तमान समय में कुल 150 टीबी के है, जिनका इलाज जारी है। टीबी के मरीजों को समाजसेवी सहित उच्चाधिकारी ,जनप्रतिनिधि गोद ले रहे है। उन्होंने कहा कि समाजसेवी ने टीबी से पीड़ित लोगों को गोद लेकर देखरेख की जिम्मेदारी ली है। बड़े गर्व का विषय है। डॉक्टर रवि रंज‌न ने बताया कि इस दौरान समाजसेवी ने मरीजों को खानपान की कीट उपलब्ध कराई। वहीं प्रभारी डाक्टर ने वहां मौजूद लोगों व मरीजों को टीबी मुक्त भारत की शपथ भी दिलाई।

11 टीबी के मरीजों की 6 माह तक करेंगे देखभाल
​​​​​​​
समाजसेवी संजय सिंह ने कहा कि यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि उन्हें ग्यारह टीबी के मरीजों को गोद लेने का मौका मिला है। बताया कि 6 माह तक मरीजों की देखरेख कर रोग से लड़ने के लिए भी वह उन्हें प्रोत्साहित करेगे। बताया कि टीवी के मरीजों को कार्यक्रम के बाद टीबी मुक्त भारत की शपथ दिलाई गई है। उन्होंने मरीजों को जागरूक करते हुए कहा कि टीबी क्षय रोग एक संक्रमण रोग है। जिससे घबराने की जरूरत नहीं बस समय से उपचार व इलाज की जरूरत है।

टीबी सुपरवाइजर ने बताए टीबी के लक्षण
टीबी सुपरवाइजर श्वेताभ गौतम ने बताया कि टीबी के लक्षण तीन सप्ताह से ज्यादा खासी आना, छाती में दर्द होना, वजन घटना, भूख में कमी, बलगम के साथ खून आना यह टीबी होने के लक्षण है। इस अवसर पर अभयराज,फार्मासिस्ट सुनील भास्कर, डाक्टर मनीषा सिंह, डाक्टर अलीना अंसारी सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...