पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सेवराई में संपत्ति का अधिकार पाकर खिले चेहरे:162 ग्रामीणों को मिला घरौनी प्रमाण पत्र, जमीन संबंधी विवादों में आएगी कमी

सेवराई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सेवराई में लाभार्थियों को बांटे गए घरौनी प्रमाण पत्र। - Money Bhaskar
सेवराई में लाभार्थियों को बांटे गए घरौनी प्रमाण पत्र।

भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत सेवराई तहसील के सभी गांव में घरौनी वितरण का कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। इसमें रेवतीपुर विकास खंड के ग्राम डारीडीह के कुल 162 ग्रामीणों को घरौनी वितरण करके स्वामित्व योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान किया गया। उपजिलाधिकारी राजेश चौरसिया ने बताया कि घरौनी कार्यक्रम के अंतर्गत तहसील क्षेत्र के विभिन्न ग्राम पंचायतों में ड्रोन कैमरे के जरिए स्थिति का आंकलन किया गया था।

इसके विभागीय जांच के उपरांत संबंधित व्यक्ति जो आबादी की जमीन पर बसा है लेकिन उसके पास कोई भी संबंधित दस्तावेज नहीं है उसे स्वामित्व अधिकार प्रमाण पत्र दिया गया।घरौनी वितरण का कार्यक्रम रेवतीपुर ब्लाक प्रमुख अजिताभ राय राहुल के द्वारा ब्लाक परिसर रेवतीपुर में किया गया। घरौनी वितरण कार्यक्रम में खंड विकास अधिकारी रेवतीपुर सुरेंद्र कुमार राणा राजस्व निरीक्षक भोलाराम, लेखपाल अमरिंदर सिंह, नायब तहसीलदार कौशल चौरसिया, राजस्व निरीक्षक रेवतीपुर राकेश, ग्राम प्रधान तथा अन्य संभ्रांत व्यक्ति उपस्थित रहे।

सेवराई में लाभार्थियों को घरौनी का वितरण किया गया।
सेवराई में लाभार्थियों को घरौनी का वितरण किया गया।

कई सालों से बिना स्वामित्व के रहने वालों को मिली घरौनी
भारत सरकार के महत्वाकांक्षी योजना घरौनी वितरण के कार्यक्रम में ग्रामीणों को घरौनी के महत्व को समझाया गया।​​​​​​​ उपजिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि घरौनी उन लोगों को दी जा रही है जो आबादी की भूमि पर बिना किसी स्वामित्व के वर्षों से रह रहे हैं और उनके पास कोई भी जमीन का कागजात नही है।

लाभार्थियों को बताए गए घरौनी के फायदे
इस घरौनी से उन्हें हैसियत प्रमाण पत्र तथा बैंक से लोन आदि लेने में मदद मिलेगी। भविष्य में भूमि संबंधित विवादों में कमी आएगी तथा उनके पास भूमि का प्रमाण पत्र होने से अनाधिकार कब्जे भी नहीं हो पाएंगे। ग्रामीणों द्वारा घरौनी प्रमाण पत्र प्राप्त करके खुशी जाहिर की और उत्तर प्रदेश सरकार तथा भारत सरकार को धन्यवाद दिया गया।

खबरें और भी हैं...