पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अधिवक्ताओं के अनशन में पहुंचे बार काउंसिल के उपाध्यक्ष:बोले-अधिकार क्षेत्र अनुसार हो पत्रावली स्थानांतरण, सैदपुर में सिविल और ग्राम न्यायालय के बीच चल रहा विवाद

सैदपुर, गाजीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सैदपुर में सिविल न्यायालय और जखनिया स्थित ग्राम न्यायालय के बीच क्षेत्राधिकार को लेकर अधिवक्ताओं का अनशन तीसरे दिन भी जारी रहा। गुरुवार को अनशन में बार काउंसिल ऑफ यूपी के वाइस चेयरमैन अरुण कुमार त्रिपाठी भी पहुंचे। उन्होंने अधिवक्ताओं के समर्थन में मुद्दे को बार काउंसिल के माध्यम से भी उठाने की बात कही।

सैदपुर में अनशन में पहुंचे बार काउंसिल ऑफ यूपी के वाइस चेयरमैन अरुण कुमार त्रिपाठी।
सैदपुर में अनशन में पहुंचे बार काउंसिल ऑफ यूपी के वाइस चेयरमैन अरुण कुमार त्रिपाठी।

ग्राम न्यायालय में दीवानी के छोटे वाद ही हो सकते हैं प्रस्तुत

अरुण कुमार ने कहा कि ग्राम न्यायालय में अधिनियम 2008 के तहत दीवानी के छोटे वाद ही प्रस्तुत होते हैं। दीवानी के बड़े वाद जैसे-ध्वस्तीकरण और निरस्तीकरण आदि के वाद सक्षम सिविल न्यायालय में ही चल सकते हैं। स्थानीय न्यायालय प्रशासन को ग्राम न्यायालय जखनियां में पत्रावली भेजने के पूर्व, पत्रावलियों की बारीकी से जांच करनी चाहिए थी। ऐसा न करने से वादकारियों को असुविधाओं का सामना करना पड़ेगा और इसकी जिम्मेदारी वर्तमान न्यायिक अधिकारियों को ही उठानी पड़ेगी।

बार काउंसिल तक पहुंचेगा मामला

वादकारियों के हितों की उपेक्षा अधिवक्ता समाज कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। इस मुद्दे को बार काउंसिल के माध्यम से भी उठाया जाएगा, ताकि अन्य जगहों पर भी इस तरह की नाजायज क्रियाविधि का प्रयोग न हो। इस अवसर पर सिविल बार के अध्यक्ष सुनील पाण्डेय सैदपुर बार के अध्यक्ष सत्कार सिंह, वरिष्ठ अधिवक्ता शिवाधार सिंह, ओमप्रकाश सिंह, अवनीश चौबे, चंद्रप्रकाश, प्रभात सिंह, जितेंद्र नाथ सिंह आदि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...