पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिला चिकित्सालय में चाइल्ड स्पेशलिस्ट की तैनाती:नवजात शिशुओं, छोटे बच्चों को मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं, जर्जर चिकित्सालय फिर भी परेशानी का सबब

सैदपुर, गाजीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसएन गुप्ता ने पदभार ग्रहण किया। - Money Bhaskar
चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसएन गुप्ता ने पदभार ग्रहण किया।

सैदपुर नगर स्थित जय दयाल तुलस्यान मेमोरियल महिला अस्पताल में गुरुवार को चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर ने पदभार ग्रहण किया। जिससे अब चिकित्सालय में पैदा होने वाले नवजात शिशुओं और नगर के छोटे बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सलाह और चिकित्सा सुविधा मिलने की उम्मीद जग गई है। पहले यहां जन्म के बाद कुछ समस्या होने पर नवजात को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अथवा निजी चिकित्सालय में जाना पड़ता था।

वर्षों बाद चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर की नियुक्ति

सैदपुर नगर स्थित महिला अस्पताल में वर्षों बाद किसी चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर की नियुक्ति हुई है। गुरुवार को यहां बतौर चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसएन गुप्ता ने पदभार ग्रहण किया। अब तक यहां बतौर गायनी डॉक्टर संगीता पांडे ही तैनात थीं। जिस कारण नवजात को समस्या होने पर उसे दूसरे चिकित्सालय लेकर जाना पड़ता था। जिसमें अब कमी आने की संभावना है। इससे सबसे ज्यादा परेशानी, आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों के परिजनों को होती थी।

स्वास्थ्य केंद्र स्थित ओवरहेड टैंक वर्षों से टूटा पड़ा है।
स्वास्थ्य केंद्र स्थित ओवरहेड टैंक वर्षों से टूटा पड़ा है।

वर्षों से टूटा पड़ा है ओवरहेड टैंक

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सबसे बड़ी समस्या इन दिनों पानी की बनी हुई है। बाल्टी में पानी ले जाकर स्वास्थ्य केंद्र में प्रसव आदि कार्य कराए जाते हैं। यही हाल स्वास्थ्य केंद्र स्थित शौचालय का भी है। स्वास्थ्य केंद्र स्थित ओवरहेड टैंक वर्षों से टूटा पड़ा है। जिस कारण शौचालय और स्वास्थ्य केंद्र में पाइप लाइनों के माध्यम से पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है।

व्यवस्था में सुधार भी है जरूरी

सैदपुर महिला चिकित्सालय में भले ही गायनी और चाइल्ड स्पेशलिस्ट की पोस्टिंग हो गई हो, लेकिन अभी भी यहां कई ऐसी समस्याएं हैं, जिनसे मरीजों को दो-चार होना पड़ता है। स्वास्थ्य केंद्र का भवन पूरी तरह जर्जर हो चुका है। जिसमें बरसात के दिनों में छत से पानी टपकता है। स्टाफ को रहने के लिए बना आवास भी जर्जर अवस्था में है। वार्ड आया और धोबी की समस्या के कारण, वार्ड के बेडों पर बेडशीट नहीं बिछ पा रही हैं।जिसमें सुधार की जरूरत है।

गुरुवार को यहां बतौर चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसएन गुप्ता ने पदभार ग्रहण किया।
गुरुवार को यहां बतौर चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसएन गुप्ता ने पदभार ग्रहण किया।
स्वास्थ्य केंद्र का भवन पूरी तरह जर्जर हो चुका है। जिसमें बरसात के दिनों में छत से पानी टपकता है।
स्वास्थ्य केंद्र का भवन पूरी तरह जर्जर हो चुका है। जिसमें बरसात के दिनों में छत से पानी टपकता है।
खबरें और भी हैं...