पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाजीपुर में दोहरी मार झेल रहा किसान:पहले सूखे ने बर्बाद की खेती, अब रोग से फसलें हो रहीं नष्ट, दवाओं के अभाव में किसान परेशान

गाजीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धान की फसल में पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। - Money Bhaskar
धान की फसल में पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है।

भीमापार क्षेत्र सहित जनपद के किसानों को इस समय दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। एक बारिश न होने से किसानों की धान की फसल सूख रही है। इससे किसान अपनी गाढ़ी कमाई डूबते देख परेशान हैं। वहीं दूसरी तरफ धान की खड़ी फसल में आई पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट नामक बीमारी ने क्षेत्र के किसानों को परेशान करके रख दिया है।

किसान अपने धान की फसल में आई बीमारी से बचाने के लिए आए दिन कीटनाशक दवाओं का स्प्रे कर रहे हैं लेकिन कीटनाशक स्प्रे भी इस बीमारी पर वेअसर साबित हो रहा है जिससे किसान परेशान हैं।किसान विनोद प्रजापति के कहा कि पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग में धान की पत्तियों पे छोटे-छोटे धब्बे बनते हैं। यह धब्बे धीरे-धीरे बड़ा आकार लेने लगते हैं और धीरे-धीरे पत्तियां सूख जाती हैं।

धान की फसल में पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है।
धान की फसल में पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है।

अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान
किसान श्याम कन्हैया सिंह और यशवंत सिंह ने कहा कि बरसात नहीं होने से धान की फसल में इस समय पत्ती झुलसा शीत ब्लास्ट रोग लग रहा है। जबकि जिले के कृषि प्रसार केंद्रों पर दवा नहीं होने पर किसानों ने निजी दुकानों से प्राइवेट कंपनियों की महंगी दवाईया खरीद कर फसल में स्प्रे कर रहे हैं। कृषि विभाग के अफसर भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं इसे लेकर किसान चिंतित हैं।

कोई दवा नहीं है उपलब्ध
विवेकानंद सिंह के कहा कि कृषि विभाग भी धान की फसल में लगातार बढ़ रहे रोगों की ओर ध्यान नहीं दे रहा है और न ही कृषि प्रसार केन्द्रों पर इन बीमारियों से निजात दिलाने के लिए कोई दवा है। इस संबंध में एडीओ एजी सादात बिरेन्द्र सिंह से जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने ने बताया कि इस समय कोई भी दवा उपलब्ध नहीं है न तो आने की सम्भावना है।

खबरें और भी हैं...