पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 70वीं पुण्यतिथि:भाजपा ने बलिदान दिवस के रूप में मनाया, कहा- राष्ट्रीय एकता के लिए किया काम

गाजीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गाजीपुर में जनसंघ संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के आज 70वीं पुण्यतिथि को भाजपा जनों ने बलिदान दिवस के रूप में मनाया। उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित करके उनको श्रद्धांजलि दी। भाजपा जिला प्रभारी अशोक मिश्रा ने कहा कि आज राजनैतिक लोलूपता और स्वार्थ की परिकाष्ठा यह हो गई है। सत्ता सुख के लिए लोग कपड़ों की तरह दल और संगठन बदल रहे है। कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश के एकता, अखंडता और समग्रता के लिए केन्द्रीय मंत्री का पद त्याग दिया। मात्र 52 वर्ष की उम्र में अदम्य साहसी निर्णय लेकर बलिदान का रास्ता चुन लिया।

लोकसभा के नवनियुक्त प्रभारी जौनपुर के पुर्व जिलाध्यक्ष सुशील उपाध्याय ने कहा कि आजादी के बाद भारत को अच्छुण रखने की मुहिम (आन्दोलन) मे भारतीय जनता पार्टी एवं जन संघ ने भाग लिया है। उसके लिए बलिदान दिया है। उन्होंने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री की दोरंगी नितियों के खिलाफ देश की एकता एवं अखंडता के लिए केन्द्रीय मंत्री मंडल को लात मारकर संघर्षों का रास्ता चुना था। उस संघर्षों के सपनों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मे भारतीय जनता पार्टी कि सरकार ने पूर्ण किया है।

तस्वीर पर फूल चढ़ा कर दी श्रद्धांजलि।
तस्वीर पर फूल चढ़ा कर दी श्रद्धांजलि।

राष्ट्रीय एकता के लिए किया काम
लोकसभा संयोंजक एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कृष्ण बिहारी राय ने गोष्ठी मे उद्बोधन देते हुए कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जम्मू कश्मीर मे परमिट प्रणाली को चुनौती देते हुए वहां प्रवेश करके भारत के सम्मान, स्वाभिमान तथा राष्ट्रवादी विचारधारा को जो मजबूती प्रदान किया। आज उसी का परिणाम है कि हमारी राष्ट्रीय एकता, अखंडता और सार्वभौमिकता सुरक्षित है।

जौनपुर लोकसभा के प्रभारी एवं पूर्व जिलाध्यक्ष बृजेन्द्र राय ने कहा कि राष्ट्र,समाज और संगठन के लिए जिन्होंने सर्वस्व न्योछावर कर दिया ऐसे महान पुरुषों के दम पर हमारी राष्ट्रवादी ऊर्जा सदैव सुरक्षित और संरक्षित है। गोष्ठी में उपस्थित लोगों ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दिया।

सभागार में मौजूद भाजपा कार्यकर्ता।
सभागार में मौजूद भाजपा कार्यकर्ता।