पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाजियाबाद में गन्ने के खेत में गोकशी:हिन्दू संगठन का दावा- 15 से 20 गायों को काटा, खेत में बड़ी संख्या में मिले अवशेष

गाजियाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोजपुर थाना क्षेत्र के गांव सैदपुर हुसैनपुर डीलना में गोकशी की सूचना पर इकट्ठा हुए ग्रामीण। - Money Bhaskar
भोजपुर थाना क्षेत्र के गांव सैदपुर हुसैनपुर डीलना में गोकशी की सूचना पर इकट्ठा हुए ग्रामीण।

गाजियाबाद जिले के भोजपुर थाना क्षेत्र में बड़े पैमाने पर गोकशी हुई है। सोमवार को गन्ने के खेत में बड़ी संख्या में गोवंश के अवशेष मिले हैं। हिन्दू युवा वाहिनी का दावा है कि करीब 15 से 20 गायों को इस खेत में लाकर काटा गया है। वारदात को लेकर फिलहाल हिन्दू संगठनों में आक्रोश बना हुआ है। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

खेत में जगह-जगह पड़े थे अवशेष
हिन्दू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष आयुष त्यागी काकड़ा ने बताया, भोजपुर थाना क्षेत्र के गांव सैदपुर हुसैनपुर डीलना में परमिंद्र का गन्ने का खेत है। सोमवार दोपहर जब परमिंद्र और अन्य किसान खेत में पहुंचे तो उन्होंने जगह-जगह गोवंश के अवशेष पड़े हुए देखे। सूचना मिलने पर आयुष त्यागी भी कार्यकर्ताओं को लेकर वहां पहुंच गए। आयुष का दावा है कि करीब 15 से 20 गायों को निर्मम तरह से इस खेत में काटा गया है।

गन्ने के खेत में इस तरह जगह-जगह गोवंश के अवशेष पड़े थे।
गन्ने के खेत में इस तरह जगह-जगह गोवंश के अवशेष पड़े थे।

चार नामजद, 20 अज्ञात पर मुकदमा
किसानों ने बताया, पूरी रात बारिश हुई। इस वजह से वह रात में खेत पर नहीं गए थे। संभवत: गोतस्करों ने इसी बात का फायदा उठाया और खेत में गोवंश लाकर काट दिए। आयुष त्यागी ने भोजपुर थाने में दी शिकायत में चार लोगों को नामजद करते हुए उन पर गोकशी का शक जताया है। पुलिस ने फिलहाल चार नामजद और 15-20 अज्ञात युवकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। गोवंश के अवशेष को गड्ढा खोदकर दबवा दिया गया है।

गोकशी की घटनाएं कम नहीं

  • 30 मार्च को राजनगर एक्सटेंशन में एक खेत में गोवंश के अवशेष मिले थे।
  • 27 मार्च को विजयनगर थाने में हिन्दू संगठन के एक कार्यकर्ता ने गोकशी न रुकने पर आत्मदाह का प्रयास किया था।
  • एक जनवरी को भोजपुर के कलछीना गांव में खेत में गोवंश काटे गए।

लगातार पकड़े भी जा रहे गोतस्कर
गाजियाबाद पुलिस हर हफ्ते एनकाउंटर में गोतस्करों को पकड़ रही है। इसमें कई गोकशों और गोतस्करों को गोलियां भी लग रही हैं। इसके बावजूद गोकशी की घटनाएं कम नहीं हो रहीं। तीन दिन पहले पुलिस ने चार गोतस्कर मुठभेड़ में पकड़े थे। उन्होंने खुलासा किया था कि वे आवारा गायों को उठाकर ले जाते हैं और फिर उन्हें काट देते हैं। एक हफ्ते पहले भी मुरादनगर और मेरठ के तीन गोतस्करों को गाजियाबाद पुलिस की मुठभेड़ में गोली लगी थी।

खबरें और भी हैं...