पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुस्लिम लड़कियों के नंबर सार्वजनिक करने पर नोटिस:अल्पसंख्यक आयोग ने गाजियाबाद SSP से पूछा- लड़कियों का नंबर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वालों पर क्या कार्रवाई की गई

गाजियाबादएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंस्टाग्राम पर आरोपी कुणाल शर्मा की डिस्प्ले पिक्चर में वह श्रृंगी यादव नाम के व्यक्ति के साथ खड़ा है। जो एक मुस्लिम बच्चे की पिटाई के मामले में जेल गया था।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मुस्लिम महिलाओं के मोबाइल नंबर सार्वजनिक करने के मामले पर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने गाजियाबाद SSP समेत दिल्ली पुलिस कमिश्नर को मंगलवार को नोटिस जारी किया है। इससे पहले भी दिल्ली महिला आयोग एक नोटिस दे चुका है। विवादित पोस्ट डालने में जिन दो व्यक्तियों का नाम आ रहा है, उन्हें यूपी के गाजियाबाद का बताया जा रहा है। हालांकि गाजियाबाद पुलिस पहले ही सफाई दे चुकी है कि इस केस का यहां से कोई संबंध नहीं है।

विवादित पोस्ट में कुछ लड़कियों के नंबर सोशल मीडिया पर जारी किए गए थे।
विवादित पोस्ट में कुछ लड़कियों के नंबर सोशल मीडिया पर जारी किए गए थे।

11 जुलाई को इंस्टाग्राम पर डाली थी विवादित पोस्ट
11 जुलाई को कुणाल शर्मा नाम के इंस्टाग्राम अकाउंट से एक पोस्ट डाली गई। इसमें लिखा था ‘मुस्लिम लड़कियों से शादी करो... उसे सरकारी प्रॉपर्टी समझकर यूज करो...'। इस पोस्ट में 10 मुस्लिम लड़कियों के मोबाइल नंबर भी जारी किए गए थे। इस लिस्ट का शीर्षक ‘मुस्लिम लड़की पटाओ अभियान’ था। कुछ लोगों ने इन मोबाइल नंबरों पर संपर्क किया तो महिलाओं ने बताया कि उन्हें ऐसी कोई जानकारी ही नहीं है कि ये नंबर सोशल मीडिया में कैसे पहुंच गए।

श्रृंगी यादव…जिसने मंदिर में मुस्लिम बच्चे को पीटा था
इंस्टाग्राम पर कुणाल शर्मा की डिस्प्ले पिक्चर में वह श्रृंगी यादव नाम के व्यक्ति के साथ खड़ा है। यह वही श्रृंगी यादव है, जो कुछ महीनों पहले गाजियाबाद के डासना देवी मंदिर में पानी पीने आए एक मुस्लिम बच्चे की पिटाई में जेल गया था। फिलहाल वह जमानत पर बाहर चल रहा है। श्रृंगी और कुणाल अब कहां हैं, इस बारे में किसी को कुछ नहीं पता।

गाजियाबाद पुलिस ने पल्ला झाड़ा
11 जुलाई को यह मामला तब सामने आया, जब कुछ यूजर्स ने ट्विटर पर आपत्ति जताई। इसके बाद कुणाल शर्मा और श्रृंगी यादव पर कार्रवाई की मांग उठी। गाजियाबाद पुलिस ने ट्वीट करके उस वक्त यह जवाब दे दिया कि कुणाल दिल्ली में शाहदरा इलाके का रहने वाला है। हमने कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस को सूचित कर दिया है। कार्रवाई क्या हुई, यह न दिल्ली पुलिस बता पा रही और न ही गाजियाबाद पुलिस।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने SSP गाजियाबाद को नोटिस भेजा है।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने SSP गाजियाबाद को नोटिस भेजा है।

स्वाति मालीवाल का 1 अगस्त को ट्वीट, 2 अगस्त को नोटिस

  • 1 अगस्त को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस पूरे मसले पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा 'ये आपराधिक और बेहद घटिया हरकत है। जिसके लिए कुणाल शर्मा नाम का ये आदमी सलाखों के पीछे होना जरूरी है। बताया जा रहा है कि ये व्यक्ति गाजियाबाद में रहता है। यूपी पुलिस तुरंत एफआईआर दर्ज कर इसे गिरफ्तार करे’। गाजियाबाद पुलिस ने इस ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा ‘पूर्व में अवगत कराया जा चुका है कि व्यक्ति दिल्ली का रहने वाला है’।
  • दो अगस्त को स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के डीसीपी को एक नोटिस भेजा और कुणाल शर्मा, श्रृंगी यादव, सुखदेव सहदेव, रामभक्त गोपाल, विकास सहरावत पर कार्रवाई के लिए कहा। नोटिस में स्वाति ने कहा कि इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए। हालांकि अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने SSP गाजियाबाद को नोटिस भेजा है।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने SSP गाजियाबाद को नोटिस भेजा है।

अल्पसंख्यक आयोग ने कार्रवाई का ब्यौरा मांगा
3 अगस्त को रास्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के निदेशक ए. धनलक्ष्मी ने एसएसपी गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस कमिश्नर को एक नोटिस भेजा है। इसमें उन्होंने कुणाल शर्मा और श्रृंगी यादव पर अब तक क्या कार्रवाई हुई, कितने लोग गिरफ्तार हुए, कौन-कौन सी धाराएं लगाई गईं, सुल्ली डील्स ऐप पर हुई कार्रवाई का ब्यौरा पूछा है।