पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोनी में जलभराव:स्वास्थ्य सेवाएं बंद होने से मरीजों को हो रही परेशानी, 6 किमी दूर इलाज के लिए पड़ रहा जाना

लोनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लोनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जलभराव के बाद स्वास्थ्य सेवाएं बंद होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां आने वाले मरीजों को छह किलोमीटर दूर मंडोला स्वास्थ्य केंद्र में इलाज करने जा रहे है। वहीं कुछ मरीजों को स्थानीय झोला छाप डॉक्टरों से इलाज कराना पड़ रहा है।

ग्रामीण इलाकों में रोज मिल रहे वायरल बुखार के मरीज
बदलते मौसम के चलते वायरल बुखार के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। लोनी में भी इसका असर शुरु हो गया है। लोनी के शहरी और ग्रामीण इलाकों में सैकड़ों की संख्या में नए वायरल बुखार के मरीज पाए गए है। ऐसे में मरीज लोनी में एक मात्र सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र(सीएचसी)में अपना इलाज कराते हैं। लोनी की करीब 15 लाख की आबादी लोनी सीएचसी पर ही निर्भर हैं। लेकिन बरसात के चलते लोनी सीएचसी में जलभराव होने पर स्वास्थ्य सेवाओं को बंद कर दिया गया है।

लोनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जलभराव के बाद स्वास्थ्य सेवाएं बंद होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
लोनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जलभराव के बाद स्वास्थ्य सेवाएं बंद होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नगरपालिका पानी निकालने का कर रही काम
अस्पताल पर भी ताला लग गया है। पानी इतना ज्यादा है कि लोगों तक ने आना बंद कर दिया है। वहीं जलभराव की समस्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने लोनी सीएचसी की सेवाएं छह किलोमीटर दूर मंडोला पीएचसी में शुरू कर दी है। लेकिन मंडोला स्वास्थ्य केंद्र दूर होने के कारण मरीज स्थानीय झोला छाप डॉक्टरों से इलाज करा रहे है। नगरपालिका मंगलवार को भी पानी निकालने का काम कर रही है।

खबरें और भी हैं...