पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रेटर नोएडा में 9वीं मंजिल से गिरे 2 बच्चे:रिश्तेदार की शादी की सालगिरह में आए थे दोनों, क्रिकेट खेलते वक्त हुआ था झगड़ा; अस्पताल में भर्ती

ग्रेटर नोएडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रेटर नोएडा में 2 बच्चे 9वीं मंजिल से बेसमेंट में गिर गए। बताया जा रहा, लॉबी में क्रिकेट खलते वक्त दोनों में झगड़ा हुआ। हाथापाई के दौरान दोनों साफ्ट से टकरा कर नीचे गिर गए। परिजनों ने सिक्योरिटी की मदद से आनन-फानन में दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया। दोनों बच्चों का इलाज चल रहा है। दोनों खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

मामला बिसरख थाना क्षेत्र के वेस्ट स्थित ईको विलेज-2 सोसायटी का है। सोसाइटी के टॉवर नंबर-6 की 9वीं मंजिल पर फ्लैट नंबर 908 की लॉबी में 2 बच्चे सिद्धार्थ (12) और राज (10) क्रिकेट खेल रहे थे। क्रिकेट खेलने के दौरान ही दोनों बच्चों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया।

दोनों झगड़ते-झगड़ते अचानक साफ्ट (जो केबल आदि लाने के लिए होती है) में गिर गए। साफ्ट में गिरते ही वो 9वीं मंजिल से सीधा ग्राउंड फ्लोर पर जाकर नीचे गिरे। उनकी चीख-पुकार सुनकर परिजन तुरंत नीचे भागे और सोसाइटी में मौजूद सिक्योरिटी व अन्य लोगों की मदद से दोनों बच्चों को अस्पताल पहुंचाया।

इसी साफ्ट से दोनों बच्चे नीचे गिरे थे।
इसी साफ्ट से दोनों बच्चे नीचे गिरे थे।

दोनों ही बच्चे खतरे से बाहर
सूचना मिलने पर पुलिस अस्पताल पहुंच गई। थाना प्रभारी उमेश बहादुर सिंह ने बताया कि घायल अवस्था में दोनों बच्चों को कैलाश अस्पताल में भर्ती किया गया है। एक बच्चे के सिर में चोट आई, जबकि दूसरा बच्चा नॉर्मल है। डॉक्टरों ने दोनों ही बच्चों को खतरे से बाहर बताया है।

थाना प्रभारी उमेश बहादुर सिंह ने बताया, अभी तक किसी के भी द्वारा कोई भी शिकायत नहीं की गई है। अगर इस मामले में कोई भी शिकायत की जाती है तो मुकदमा दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

कार्यक्रम में शामिल होने आए थे बच्चे
बताया जा रहा है कि घायल हुआ एक बच्चा यहां अपनी रिश्तेदारी में आया हुआ था। रिश्तेदारी में किसी की शादी की सालगिरह में का कार्यक्रम था। कार्यक्रम शुरू होने से पहले दोनों बच्चे क्रिकेट खेलने लगे और हादसा हो गया।

बेसमेंट में यह वही जगह है, जहां 9वीं मंजिल से आकर बच्चे गिरे थे।
बेसमेंट में यह वही जगह है, जहां 9वीं मंजिल से आकर बच्चे गिरे थे।

बिल्डर पर लगाया गया आरोप
सोसायटी निवासियों ने इस घटना के बाद सुपरटेक बिल्डर पर लापरवाही का आरोप लगाया। सोशल मीडिया पर जमकर गुस्सा निकाला और इस घटना के लिए बिल्डर को जिम्मेदार बताया।

फ्लैट ओनर्स की संस्था नेफोवा की तरफ से किए गए ट्वीट में लिखा गया कि, 'बिल्डर की लापरवाही की वजह से ही बच्चे चोटिल हुए हैं। बिल्डर ने सभी फ्लोर पर साफ्ट को खुला छोड़ रखा है, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ'।

घटना के बाद सोसायटी वासियों में भारी रोष
सोसायटी निवासी पहले से ही बिल्डर से काफी नाराज हैं और उस पर लापरवाही का आरोप लगा चुके हैं। इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं। सोसायटी वासियों का कहना है, बिल्डर द्वारा लोगों की सुरक्षा का कोई भी ध्यान नहीं रखा गया है। इस तरह की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं।

लोगों ने बिल्डर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। लोगों के मुताबिक, फाइबर शीट के दरवाजे से साफ्ट को कवर किया हुआ था। दोनों बच्चों में क्रिकेट खेलते दौरान जब झगड़ा हुआ तो दोनों फाइबर सीट से टकरा गए और फाइबर सीट निकल गई। इसी वजह से बच्चे 9वीं मंजिल से बेसमेंट में आ गिरे।

खबरें और भी हैं...