पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर फिर लगे पाम ट्री:प्राधिकरण ने पेड़ और अवैध निर्माण हटाने का दिया अल्टीमेटम, त्यागी समाज ने शुरू किया प्रदर्शन

नोएडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीकांत त्यागी की पत्नी अनु त्यागी के साथ भाकियू नेता धरने पर बैठे हैं।

त्यागी समाज के लोगों ने सोसाइटी के बाहर लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है। प्रदर्शन का नेतृत्व भाकियू के मांगे राम त्यागी कर रहे है। उनका कहना है कि जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने प्राधिकरण को भी 48 घंटों का अल्टीमेटम दिया है।

सोसाइटी के बाहर प्रदर्शन में बैठे मांगेराम व अन्नु त्यागी
सोसाइटी के बाहर प्रदर्शन में बैठे मांगेराम व अन्नु त्यागी

उन्होंने कहा कि श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर लगे पेड़ नहीं हटाए जाने चाहिए। वह यही सोसाइटी के बाहर बैठे हैं। साथ ही सोसाइटी में रहने वाले जितने भी रेजिडेंट्स को नोटिस जारी किया गया है उसे ध्वस्त किया जाए। हालांकि मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने उन्हें समझाया। इसके बाद भी वह यहां से हटने को तैयार नहीं है। प्रदर्शन में श्रीकांत त्यागी की पत्नी अन्नु त्यागी भी मौजूद है।

सोसाइटी के बाहर धरने पर बैठे मांगे रात त्यागी और समाज के लोग
सोसाइटी के बाहर धरने पर बैठे मांगे रात त्यागी और समाज के लोग

नोएडा में मंगलवार को ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में श्रीकांत के घर के बाहर पेड़ लगाए गए। ये पेड़ सोसाइटी में उसी जगह लगाए गए हैं, जहां से पहले उखाड़े गए थे। पेड़ प्राधिकरण ने लगाया है या सोसाइटी की तरफ से लगाए गए हैं, इसको लेकर किसी को भी जानकारी नहीं है।

अनु त्यागी का कहना है,क्या पेड़ लगाना अपराध है। अगर पेड़ लगाना अपराध नहीं है तो सोसाइटी वाले ऐसा क्यों कह रहे हैं और ऐसा कर रहे हैं तो पुलिस-प्रशासन ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है? उन्होंने पुलिस और प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं।

सोसायटी के बाहर प्रदर्शन करता त्यागी समाज
सोसायटी के बाहर प्रदर्शन करता त्यागी समाज

प्राधिकरण की ओएसडी वंदना त्रिपाठी ने बताया कि सोसाइटी के अंदर पेड़ पौधे लगाने का काम प्राधिकरण का नहीं है। यदि वहां पेड़ लगाए जा रहे है तो सोसाइटी के लोगों ने ही लगवाए होंगे। वहीं, सोसायटी प्रबंधन ने भी पेड़ लगवाने से इनकार किया है।

पेड़ लगने के बाद मौके पर जाते पुलिस कर्मी।
पेड़ लगने के बाद मौके पर जाते पुलिस कर्मी।

दरअसल, सोमवार को मांगे राम त्यागी और अन्नु त्यागी ने सोसाइटी के बाहर प्रदर्शन किया था। इस दौरान पुलिस और प्राधिकरण को अल्टीमेटम दिया था कि 24 घंटे के अंदर उखाड़े गए पेड़ों को दोबारा लगाया जाए। वहीं, सोसाइटी में जिन फ्लैटों में अवैध निर्माण है, उसे ध्वस्त किया जाए। प्राधिकरण ने इस पर आश्वासन दिया था। इसके बाद प्रदर्शन खत्म किया गया था।

मंगलवार को अनु त्यागी के घर के बाहर 7 पाम के पेड़ लगे मिले। इस दौरान प्राधिकरण के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। सोसायटी में रहने वाले लोगों ने अवैध निर्माण की शिकायत की। इस पर प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी प्रवीन मिश्रा ने अवैध निर्माण और पेड़ हटाने के लिए सोसाइटी के लोगों 48 घंटे का समय दिया।

उन्होंने कहा कि सोसाइटी के लोग खुद अवैध निर्माण को हटा लें। यदि वह ऐसा नहीं करते है तो पुलिस बल बुलाकर सोसाइटी में अवैध निर्माण को तोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि सोसाइटी में श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर जो पेड़ लगे हैं, उसे भी हटाया जाए। जिन लोगों ने अवैध निर्माण किया है, उनको पहले ही नोटिस जारी किए जा चुके है।

सोमवार को सोसाइटी के बाहर प्रदर्शन करती अन्नु त्यागी।
सोमवार को सोसाइटी के बाहर प्रदर्शन करती अन्नु त्यागी।

5 अगस्त को विवाद की जड़ भी पौधे थे। विवाद बढ़ने के बाद सोसाइटी के लोगों ने इन पेड़ों को हटाया था। इसके बाद प्राधिकरण की टीम श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर अवैध निर्माण को भी तोड़ा था।

सोसाइटी वालों का आरोप था कि श्रीकांत त्यागी घर के बाहर पेड़ लगाकार कॉमन एरिया के जमीन को अपने कब्जे में ले रहा है। इसको लेकर ही श्रीकांत और सोसाइटी की महिला के बीच विवाद हुआ। जिसमें श्रीकांत त्यागी ने महिला के साथ अभद्रता की और मामला बढ़ गया। जिसके चलते श्रीकांत त्यागी गैंगस्टर एक्ट में जेल में है।

श्रीकांत त्यागी ने गैंगस्टर एक्ट में मांगी जमानत
श्रीकांत त्यागी ने गैंगस्टर अधिनियम के तहत दायर मुकदमे में हाईकोर्ट से जमानत मांगी है। इस मामले में 22 सितंबर को सुनवाई हुई थी। जिसमें अदालत ने राज्य सरकार से काउंटर एफिडेबिट मांगा है। अगले 3 सप्ताह में राज्य सरकार की ओर से गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नर काउंटर एफिडेबिट दाखिल करेगी।

खबरें और भी हैं...