पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेवर एयरपोर्ट के पास अतिक्रमण पर चला बुलडोजर:273 करोड़ रुपये की जमीन को अवैध कब्जे से कराया गया मुक्त, जमींदोज की गई कॉलोनी और होटल

जेवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यमुना विकास प्राधिकरण ने जेवर में एयरपोर्ट के नजदीक अवैध बन रही काॅलाेनियों पर बुधवार को बुलडोजर चलाया है। प्राधिकरण ने करोड़ों रुपये की अवैध रूप से बन रही काॅलाेनियों को जमींदोज कर दिया। यमुना विकास प्राधिकरण के अधिकारियों का कहना है कि यह अभियान आगे जारी रहेगा।

अवैध कॉलोनियों पर चला बुलडोजर
यमुना विकास प्राधिकरण ने अवैध कॉलोनियों और अतिक्रमण पर बड़ी कार्रवाई की है। बुधवार को प्राधिकरण का अमला जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नजदीक पहुंचा। जहां प्राधिकरण क्षेत्र में अवैध रूप से बन रही काॅलाेनियों पर बुलडोजर चला। एक बड़े होटल को भी प्राधिकरण ने जमींदोज कर दिया है। प्राधिकरण की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक 2,73,656 वर्ग मीटर जमीन अतिक्रमण मुक्त करवाई गई है।

अवैध निर्माण गिराता बुलडोजर
अवैध निर्माण गिराता बुलडोजर

अवैध रूप से बसाया जा रहा था टाउनशिप
यमुना अथॉरिटी के विशेष कार्याधिकारी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि अवैध निर्माण गिराए गए हैं। ऐरा स्ट्रक्चरल टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी 1,78,150 वर्ग मीटर जमीन पर अवैध रूप से एक टाउनशिप बसा रही थी। इसके लिए प्राधिकरण से अनुमति नहीं ली गई। कंपनी ने कोई नक्शा भी पास नहीं करवाया था। जिससे एरो क्लासिक सिटी नाम की अवैध कॉलोनी को ध्वस्त कर दिया गया है।

कंपनी को भेजा गया नोटिस
उन्होंने कहा कि अगर यहां जमीन की सामान्य बाजार दर 10 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर आंकी जाए तो इस जमीन की कीमत 178 करोड़ रुपए से ज्यादा है। इसके साथ कंपनी को नोटिस भेजा गया है और चेतावनी दी गई है। अगर भविष्य में इस तरह का निर्माण दोबारा करवाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की गतिविधियों को संचालित कर रहे लोगों को भूमाफिया और गैंगस्टर घोषित करवाया जाएगा और प्राधिकरण एफआईआर दर्ज करवाएगा।

अतिक्रमण हटाने के दौरान मौजूद रहे अधिकारी
अतिक्रमण हटाने के दौरान मौजूद रहे अधिकारी

जेवर एयरपोर्ट का लालच देकर काटी गई कॉलाेनी
प्राधिकरण के ओएसडी शैलेंद्र सिंह ने कहा कि प्राधिकरण ने हवेली नाम का एक होटल भी ध्वस्त किया है। जो जमीन खाली कराई गई है। बाजार दर के हिसाब से इस जमीन की कीमत 273 करोड़ रुपये से ज्यादा है। जो लोग आम आदमी को ठगने के लिए अवैध कॉलोनियां बसा रहे हैं। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने बताया कि जेवर एयरपोर्ट का लालच देकर अवैध रूप से काटी गई काॅलाेनियों पर यह कार्रवाई हुई है। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

खबरें और भी हैं...