पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेवर में सांसद प्रतिनिधि पर प्रताड़ित करने का आरोप:आहत होकर परिवार ने पलायन करने की दी चेतावनी, एसीपी से की शिकायत

जेवर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जेवर के दनकौर कस्बा निवासी एक महिला ने सांसद प्रतिनिधि पर उसके पति से मारपीट करने व फर्जी शिकायत देकर पुलिस हिरासत में रखवाने का आरोप लगाया है। पीड़ित परिवार ने नेता द्वारा प्रताड़ित करने से आहत होकर परिवार समेत कस्बे से पलायन करने की चेतावनी प्रशासन को दी।

रास्ते में पीटने का आरोप
कस्बे के कुम्हारन मोहल्ला निवासी सुमन ने शिकायत में कहा है कि शनिवार देर शाम अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई। जिससे उसका पति तेजवीर उर्फ चिटर दवाई लेने के लिए बाहर गए थे। जब पति दवाई लेकर वापस लौट रहे थे। तभी रास्ते में बीजेपी नेता व सांसद प्रतिनिधि सोनू वर्मा एक अन्य युवक के साथ खड़ा हुआ था। दोनों ने उसके पति को रोक लिया और बिना कारण के मारपीट कर दी।

मामला सुलझाने में लगी पुलिस
पति के विरोध करने पर आरोपी नेता ने पुलिस बुलाकर उसके पति को पुलिस हिरासत में दे दिया। पीड़ित भी परिवार के लोगों को मामले की जानकारी होने पर कोतवाली लेकर पहुंच गई। जहां उन्होंने नेता के खिलाफ शिकायत दी। लेकिन पुलिस ने शिकायत लेने के बजाय आरोपी नेता से माफी मांगकर मामला सुलझाने की सलाह दे डाली।

परिवार ने एसीपी से की शिकायत
परिवार ने एसीपी से की शिकायत

पति को ही ले लिया पुलिस हिरासत में
कई घंटे बाद पीड़ित परिवार ने स्थानीय विधायक की मदद लेकर पति को पुलिस हिरासत से छुड़ाया। आरोप है कि नेता पिछले कई महीनें से रंजिशन परिवार को प्रताड़ित कर रहा है। नेता के डर से पीड़ित परिवार कस्बे से किसी और स्थान पर रहने की बात कह रहा है है।

आरोपों को बताया बेबुनियाद
आरोप लगने वाले सांसद प्रतिनिधि सोनू वर्मा का कहना है कि शनिवार की रात वह घर से बाहर किसी काम के लिए जा रही थी। तभी आरोप लगाने वाली महिला के पति ने उनके साथ गाली गलौज कर दी। जिसके बाद उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस उसको कोतवाली ले आई।

युवक के गले पर चोट के निशान
युवक के गले पर चोट के निशान

बाद में आरोपी द्वारा उनसे माफी मांगी गई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को कोतवाली से छोड़ दिया है। उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है। इस बारे में दनकौर कोतवाली प्रभारी राधा रमन सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।