पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसों का नाला:आए दिन हो रहे हादसे, नाला निगल रहा जिंदगियां, जिम्मेदार बेफिक्र

जेवर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गौतमबुद्धनगर के दनकौर कोतवाली क्षेत्र के गलगोटिया यूनिवर्सिटी के नजदीक बने नाले में शुक्रवार को एक नीलगाय गिर गई। सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस और वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू कर उसे बाहर निकाला। नाला खुला होने के कारण यहां आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं इसके बावजूद प्रशासन नहीं चेत रहा है।

नाले में गिरकर स्टूडेंट्स की हो चुकी है मौत

स्थानीय लोगों ने बताया कि, यमुना प्राधिकरण द्वारा बनवाए गए इस खुले नाले में आए दिन पशु गिरकर घायल होते रहते हैं। बीती 20 दिसंबर को इसी नाले में कार के गिर जाने से 2 स्टूडेंटस की मौत हो गई थी जबकि तीसरा घायल हो गया था।

लोगों का आरोप है कि आए दिन हो रही घटनाओं के बावजूद भी प्राधिकरण द्वारा नाले की दीवार को ऊंचा नहीं कराया जा रहा है। इस बारे में प्राधिकरण के अधिकारियों का कहना है कि, नाले की दीवारों को ऊंचा कराने में विभाग जुटा हुआ है।

राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस

दनकौर कोतवाली प्रभारी सुधीर कुमार के मुताबिक, शुक्रवार की सुबह किसी राहगीर ने पुलिस को सूचना दी कि, एक नीलगाय नाले में फंसी हुई है। सूचना के आधार पर टीम मौके पर पहुंची और उसको बाहर निकालने का प्रयास किया लेकिन नाला गहरा होने की वजह से नीलगाय बाहर नहीं निकल पाई। जिसके बाद पुलिस ने वन विभाग की टीम को सूचना दी।

पुलिस और वन विभाग की टीम ने जेसीबी मशीन के माध्यम से नीलगाय को करीब 2 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सुरक्षित बाहर निकाला। नील गाय को चोट नहीं आई है। उसे जंगल में छोड़ दिया गया।

खबरें और भी हैं...