पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

फिरोजाबाद में मेडिकल कॉलेज की प्राचार्या को हटाने की मांग:सामाजिक संगठनों ने किया धरना प्रदर्शन, सिटी मजिस्ट्रेट ने कहा- समाप्त कर दो धरना नहीं तो ठीक कर दूंगा

फिरोजाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फिरोजाबाद में मेडिकल कॉलेज की प्राचार्या को हटाने की मांग। - Money Bhaskar
फिरोजाबाद में मेडिकल कॉलेज की प्राचार्या को हटाने की मांग।

फिरोजाबाद जिले में मेडिकल कॉलेज में अव्यवस्थाओं को लेकर सामाजिक संगठनों ने गुरुवार को गांधी पार्क के बाहर धरना प्रदर्शन किया। सभी ने मेडिकल काॅलेज की प्राचार्या को हटाने की मांग की। सपा एमएलसी डॉ. दिलीप यादव ने धरने में पहुंचकर समर्थन किया। वहीं धरना स्थल पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट ने मजदूर संघ के नेता से कहा कि धरना समाप्त नहीं किया तो ठीक कर दूंगा। इसी बात को लेकर धरना दे रहे लोगों की सिटी मजिस्ट्रेट से जमकर बहस हुई।

मेडिकल काॅलेज की प्राचार्या को हाटने की मांग

बता दें मेडिकल कॉलेज में फैली अव्यवस्थाओं को लेकर चाणक्य फाउंडेशन, चूड़ी जुड़ाई मजदूर संघ, सामाजिक परिवर्तन दल, नवयुवक बाल्मीकि संघ, द्रविण महासभा, सवर्ण संगठन, भारतीय किसान यूनियन संगठन के प्रतिनिधियों द्वारा गांधी पार्क के बाहर धरना प्रदर्शन किया गया। इस दौरान सामाजिक संगठनों ने मेडिकल काॅलेज की प्राचार्या डॉ. संगीता अनेजा के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए हटाने की मांग की। साथ ही कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कार्रवाई करते हुए सीएमओ और सीएमएस को हटा दिया, लेकिन मेडिकल काॅलेज प्राचार्या के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

घोटाले बाजी से तंग आ चुका है जिला

मजदूर नेता रामदास मानव ने कहा कि मेडिकल काॅलेज प्राचार्या डॉ. संगीता अनेजा द्वारा मरीजों के इलाज में लापरवाही की जा रही है। गरीब मरीज इलाज से वंचित हो रहे हैं, जिस कराण जिले में मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। पंडित अखिलेश शर्मा ने कहा कि अब घोटाले बाजी से जिला तंग आ चुका है और आमरण अनशन ही एक मात्र रास्ता बचा है। इसलिए सभी सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर धरना दिया है, जो अनवरत जारी रहेगा।

स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम मिलकर करें काम

प्रवीण अमौरिया, विनय बाल्मीकि, शिराज अली और उदयवीर सिंह ने कहा कि जिले की सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं की लापरवाही के कारण मौतों का आंकड़ा बढ़ गया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग अभी भी गहरी नींद में सो रहा है। वहीं धरना स्थल पर पहुंचे सपा एमएलसी ने सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम मिलकर काम करें तो शहर में डेंगू के मरीज कम हो सकते हैं, जिसके लिए दोनों विभागों को बहुत मेहनत करने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...