पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरकारी विभागों पर 11 करोड़ का बिजली बिल बकाया:स्वास्थ्य और शिक्षा विभाग का सबसे ज्यादा, ढाई लाख लोगों ने 3 साल से नहीं जमा किया बिल

फतेहपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी विभागों पर बकाया है बिजली का बिल।

यूपी सरकार द्वारा बिजली के रेट बढ़ाने की तैयारी चल रही है। इसी बीच बकायेदारों से बिजली बिल जमा कराने को टीम लगा दी गई है। उसी को लेकर फतेहपुर जिले में विद्युत विभाग द्वारा बिजली बिल के बकाएदारों से वसूली की जा रही और बिल जमा ना करने पर कनेक्शन काटा जा रहा। पूरे जिले के सरकारी विभागों में 11 करोड़ रुपये बाकी है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग का बिजली बिल करोड़ों के ऊपर बांकी है।

अधीक्षण अभियंता इंजीनियर राकेश कुमार ने बताया कि फतेहपुर जिले में ओटीएस योजना के तहत ढाई लाख लोग हैं। जो 10 हजार का बिल है, तीन साल से जमा नहीं कराया है। उनका कनेक्शन काटा जा रहा। 1 लाख के ऊपर बकायेदारों का कनेक्शन काटा जा रहा है। जिन लोगों ने ओटीएस में रजिस्ट्रेशन कराया है, उनका कनेक्शन नहीं काटा जा रहा।

अधीक्षण अभियंता इंजीनियर राकेश कुमार।
अधीक्षण अभियंता इंजीनियर राकेश कुमार।

30 लाख तो किसी का 10 हजार बाकी
उन्होंने बताया कि पूरे जिले में सरकारी विभागों में 11 करोड़ रुपये बिजली बिल का जमा नहीं है। सबसे ज्यादा स्वास्थ्य विभाग 1 करोड़ 96 लाख और शिक्षा विभाग का 1 करोड़ बाकी है। उसके बाद किसी विभाग का 30 लाख तो किसी का 10 हजार से 50 हजार तक बाकी है। जिसका बिल जमा कराने को संबोधित विभागों को पत्र लिखा जा रहा।

बिजली बिल जमा भी हो रहा। आम जनमानस को कैंप लगाकर बिल जमा करने को जागरूक किया जाता है। जिनका 1 लाख बाकी है। 6 किश्तों में और जिनका 1 लाख के ऊपर बाकी है, 12 किश्तों में बिल जमा कर सकते हैं।

सबसे ज्यादा स्वास्थ्य विभाग 1 करोड़ 96 लाख बिजली का बिल बकाया है।
सबसे ज्यादा स्वास्थ्य विभाग 1 करोड़ 96 लाख बिजली का बिल बकाया है।