पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फतेहपुर में गर्भपात का गोरखधंधा:प्राइवेट हॉस्पिटल चला रहे सरकारी डॉक्टर ने लड़की से अबॉर्शन के लिए मांगे 15 हजार, स्वास्थ्य विभाग की रेड

फतेहपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल पर की छापेमारी। - Money Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल पर की छापेमारी।

फतेहपुर में न्यू विकास हॉस्पिटल में अबॉर्शन का वीडियो शुक्रवार को वायरल होने के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। सीएमओ डॉक्टर राजेन्द्र सिंह ने हॉस्पिटल संचालक डॉक्टर गुलाब सिंह को नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब मांगा है। मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के डाक बंगला स्थित न्यू विकास हॉस्पिटल का है।

हॉस्पिटल संचालक गुलाब सिंह गोपालगंज सीएचसी में स्वास्थ्य पर्यवेक्षक के पद पर तैनात है। साथ ही विकास चौधरी कोरांई पीएचसी में संविदा पर तैनात है। सरकारी अस्पतालों में तैनाती के बाद भी दोनों डॉक्टर अवैध रूप से प्राइवेट हॉस्पिटल का संचालन कर रहे हैं। शनिवार को सीएमओ के आदेश के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम न्यू विकास हॉस्पिटल पहुंची। स्वास्थ्य टीम ने हॉस्पिटल संचालक को नोटिस जारी कर जांच-पड़ताल शुरू करने का आदेश दिया है। हॉस्पिटल में मौजूद स्टाफ का नाम पता और भर्ती मरीजों का बयान दर्ज किया। हॉस्पिटल में जांच पड़ताल के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ऑपरेशन थियेटर से अबॉर्शन किट सहित कई अन्य उपकरणों को भी जब्त किया है।

टीम ने हॉस्पिटल को किया सील

शहर क्षेत्र के न्यू विकास हॉस्पिटल में अबॉर्शन की जांच कर रहे डॉक्टर यूपी सिंह ने बताया कि वायरल वीडियो पर संज्ञान लेते हुए सीएमओ ने कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इस सम्बंध में हॉस्पिटल संचालक को नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब मांगा गया है। जांच में यह भी पाया गया कि हॉस्पिटल का रजिस्ट्रेशन नहीं है। न ही यहां पर किसी डिग्री धारक डॉक्टरों की उपस्थिति है। सही जवाब नहीं मिलने पर हॉस्पिटल को सील कर संचालक गुलाब सिंह और विकास चौधरी के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी।

लड़कियों से करते हैं सफल अबॉर्शन का वादा

न्यू विकास हॉस्पिटल में अबॉर्शन के दो अलग-अलग वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। वायरल वीडियो में साफ देखा और सुना जा सकता है कि हॉस्पिटल संचालक डॉक्टर गुलाब सिंह 10 से 15 हजार रुपये में लड़की का सफल अबॉर्शन करने का दावा कर रहा है। साथ ही यह भी बता रहा है कि इससे पहले भी उसने कई लड़कियों का सफल अबॉर्शन किया है।

झोलाछाप डॉक्टर ने किया गर्भपात, महिला की मौत

एक और मामला असोथर थाना क्षेत्र के कस्बा स्थित जय मां वैष्णो पाली क्लीनिक से सामने आया है। आरोप है कि अबॉर्शन के कुछ घंटे बाद जब महिला की हालत बिगड़ी तो झोलाछाप डॉक्टर ने उसे कानपुर के एक अस्पताल में एडमिट करवा दिया। जहां इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। मौत के पीछे की वजह आंत की नस कटना बताई जा रही है। परिजनों ने महिला की मौत के बाद अबॉर्शन करने वाले झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

नर्सिंग होम को किया सीज

डॉ यूबी सिंह ने बताया कि गर्भपात को लेकर एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें गर्भपात करने को लेकर एक डॉक्टर अपना रेट बता रहा है। जिस पर सीएमओ राजेन्द्र सिंह के निर्देश पर न्यू विकास नर्सिंग होम में छापेमारी की गई। नर्सिंग होम का लाइसेंस भी ना होने के कारण अभी नोटिस दी गई है। नोटिस का जवाब सही ना मिलने पर नर्सिंग होम को सीज करते हुए डॉक्टर पर कार्रवाई की जायेगी।

खबरें और भी हैं...