पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ससुर खदेरी नदी को पुनर्जीवित करने को श्रमदान:फतेहपुर जिला प्रशासन ने झोंकी ताकत, 4 ब्लॉक के तीन सौ गांवों का जलस्तर होगा बहेतर; 58 किलोमीटर है लंबाई

फतेहपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के फतेहपुर गिरते जलस्तर व नदियों को पुनर्जीवित करने को लेकर जिला प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी है। जिसमें जिला प्रशासन के अपील पर जिले के सभी सरकारी विभागों के अलावा सामाजिक संगठनों ने श्रमदान कर रहे। जिसमें जिले की 58 किलोमीटर लंबी मुख्य नदी ससुर खदेरी नदी पार्ट-2 को पुनर्जीवित करने को अधिकारियों के साथ ग्रामीण व सामाजिक संगठनों के लोग श्रमदान कर रहे। नदी के पुनर्जीवित होने से तीन सौ के ऊपर गांवों का पानी जलस्तर बहेतर हो जाएगा।

300 गांवों को मिलेगा लाभ

जिलाधिकारी अपूर्वा दूबे ने बताया कि ससुर खदेरी नदी जिले की मुख्य नदी का प्रथम भाग 10 वर्ष पहले पुनर्जीवित कर दिया गया था। इसके दो भाग में यह पार्ट 2 जिसको पुनर्जीवित नहीं किया गया था। ससुर खदेरी नदी पार्ट-2 को जिसकी लंबाई 58 किलोमीटर है। यह 4 ब्लॉक से होकर निकलती है, जिसको पुनर्जीवित करने को पुलिस विभाग, विकास विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, व्यापार मंडल,सामाजिक संगठन के लोग अपना श्रमदान कर रहे।

ससुर खदेरी नदी को पुर्नर्जीवित करने के लिए सामाजिक संगठनों ने श्रमदान किया।
ससुर खदेरी नदी को पुर्नर्जीवित करने के लिए सामाजिक संगठनों ने श्रमदान किया।

4 झीलों के 4 मी को होगी बैठक

उन्होंने बताया कि इस नदी के पांच झील मुख्य स्रोत है। जिसमें एक झील को जिला पंचायत से लेकर जीवित कर दिया गया था। 4 झीलों के लिए 20 मई को नमामि गंगे की बैठक में चार झीलों का प्रस्तव पास कर उनको भी जीवित किया जायेगा। जिससे करीब तीन सौ गांवों का जलस्तर बहेतर होगा। आपको बता दें कि जिले के 13 ब्लाक में 8 डार्क जोन में होने से जलस्तर काफी नीचे चला गया है। जिसको लेकर जिला प्रशासन द्वारा यह प्रयास किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...