पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ललौली क्षेत्र में पानी की किल्लत से जूझ रहे ग्रामीण:दो दशक पहले स्थापित हुई पानी टंकी बनी शो-पीस, नहीं हो रही सप्लाई

बिन्दकीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फतेहपुर के ललौली क्षेत्र अंतर्गत एक तरफ जहां लोग भीषण तपिश भरी गर्मी में बेहाल है वहीं दूसरी तरफ स्वच्छ पेयजल की किल्लत से ग्रामीण परेशान हैं। सरकार के हर घर नल से जल के सपने को जिम्मेदार अधिकारी पलीता लगाते नजर आ रहे हैं। स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए लाखों की लागत से सुंदर पानी की टंकी तो बनाई गई है पाइपलाइन भी प्रोजेक्ट के तहत डाली गई थी। लेकिन लगभग दो दशक बीत जाने के बावजूद लोगों के घरों तक स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति नहीं हो सकी।

मामला ग्राम पंचायत अढावल का मजरा चमारन डेरा का है। जहां अढावल गांव में लगभग 20 वर्ष पहले पानी की टंकी बनवाई गई थी ताकि ग्राम पंचायत समेत मजरों में लोगों को हर घर जल के माध्यम से स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति मिल सके।

शुरुवाती कुछ महीने में अढावल गांव में पानी की सप्लाई शुरू की गई थी। मजरे चमारनडेरा में पाइपलाइन बिछवाई गई लेकिन न ही टोटी लगाई और न ही लोगों को स्वच्छ पेयजल मिल सका। लंबा समय बीत जाने के बावजूद भीषण गर्मी में अभी भी ग्रामीण आस लगाए बैठे हैं कि शायद पानी की सप्लाई मिल जाय।

परेशान ग्रामीण छत्रपाल , श्यामलाल, राजेश समेत अन्य ने बताया पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं कई बार संबंधित अधिकारियों से शिकायत भी किया गया लेकिन किसी ने कोई सुध नहीं ली। गांव में मात्र दो से तीन सरकारी हैंडपंप दूर-दूर लगें है। इन्ही हैंडपंप के सहारे भीषण गर्मी में पानी की आवश्यकताओं की पूर्ति की जाती है।

खबरें और भी हैं...