पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिन्दकी.... नन्हे-मुन्ने बच्चों ने सड़क सुरक्षा की निकाली जागरूकता रैली:बिना हेलमेट पहनें दुपहिया चालकों ने कान पकड़पर बच्चों से मांगी माफी

बिन्दकीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्राथमिक विद्यालय मुरारपुर के नन्हे-मुन्ने बच्चों ने सड़क सुरक्षा की जागरूकता हेतु रैली निकाली। रैली गांव से होते हुए तिराहे पर पहुंची और वहां आने जाने वाले दोपहिया व चार पहिया वाहन चालकों को रोककर यातायात के नियमों के प्रति जागरूक किया और जो दोपहिया वाहन चालक हेलमेट नहीं लगाए थे। उन्हें हेलमेट लगाने का और चारपहिया चालकों से सीट बेल्ट बांधने का अनुरोध किया।

दोपहिया चालकों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करते बच्चे
दोपहिया चालकों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करते बच्चे

राहगीरों ने बच्चों की बातों को समझा व सीट बेल्ट बांधी।लेकिन जिन दुपहिया चालकों के पास हेलमेट नहीं था। उन्होंने कान पकड़कर के बच्चों से माफी भी मांगी और वह आगे से इस बात का ध्यान रखेंगे। विद्यालय में सड़क सुरक्षा की जागरूकता हेतु प्रभाव कारी रंगोली बनाई गई। बच्चों के बीच में कला प्रतियोगिता तथा स्लोगन प्रतियोगिता भी कराई गई।

एक रचना का मैसेज था कि ‛शराब और ड्राइविंग का साथ कभी नहीं’, ‛दुर्घटना से रखनी दूरी है तो हेलमेट सबसे जरूरी है’, ‛वाहन को तेज मत चलाना अपने जीवन को दांव पर मत लगाना’, ‛न शौक न मजबूरी हेलमेट पहनना है जरूरी’, ‛वाहन नियंत्रित गति में चलाएं जिम्मेदार नागरिक का फर्ज निभाएं’ इस तरह के कई स्लोगन बच्चों ने लिखें।

कार चालकों को सीट बेल्ट के महत्व के बारे में बताते स्कूली बच्चे
कार चालकों को सीट बेल्ट के महत्व के बारे में बताते स्कूली बच्चे

साथ ही इन स्लोगन को नारों के रूप में बोलते हुए पूरे गांव में रैली को घुमाया गया। साथ ही गांव के बाहर भी बच्चें तिराहे पर रुक कर के लोगों को जागरूक करते नजर आए। एआरपी सुनील गौतम ने बच्चों को यातायात के नियम समझाएं और उन्हें बताया कि सड़क पर हमेशा बायीं ओर चलें।

सड़क पार करते समय पहले दाएं फिर बायें देखें तब पार करें। पैदल चलते समय फुटपाथ पर चलें और गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात ना करें, कार चलाते समय सीट बेल्ट लगाएं और दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट अवश्य लगाएं।

विद्यालय की प्रधानाध्यापिका गीता यादव ने बताया छोटे बच्चों को यातायात के नियमों के प्रति सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करना अत्यंत आवश्यक है अगर यह अभी से जागरूक हो जाएंगे तो वे भविष्य में एक मजबूत पीढ़ी का निर्माण करेंगे।

खबरें और भी हैं...