पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्रुखाबाद लोहिया अस्पताल में खून बेचने का सौदा:एक यूनिट खून 9000 हजार रुपये में तय हुआ, खून देने आया युवक भाग गया

फर्रुखाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोहिया अस्पताल में ब्लड बैंक में मौजूद लोग। - Money Bhaskar
लोहिया अस्पताल में ब्लड बैंक में मौजूद लोग।

फर्रुखाबाद लोहिया अस्पताल में खून के जरूरतमंद लोगों से कर्मचारी ही सौदा कर रहे हैं। ऐसा ही मामला एक सामने आया है। अस्पताल के एक कर्मचारी ने मरीज के रिश्तेदार से 9000 में एक यूनिट खून दिलाने का सौदा किया। जब युवक ब्लड बैंक में खून देने पहुंचा तो ब्लड बैंक कर्मियों की पूछताछ में फंस गया। मरीज की पत्नी ने हकीकत बयां की तो सभी चौक गए। खून देने आया युवक मौके से भाग गया।

राजेपुर थाना क्षेत्र के गांव भरहपुर निवासी सुभाष चंद्र को बुधवार को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टर ने खून चढ़ाने की बात कही। सुभाष की पत्नी आशा देवी बृहस्पतिवार की शाम एक युवक को लेकर ब्लड बैंक में पहुंची। ब्लड बैंक कर्मियों ने आशा देवी से युवक के बारे में जानकारी चाहिए तो वह नहीं बता सकी। संदेह होने पर युवक से पूछताछ की गई तो उसने इमरजेंसी में एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की ओर इशारा कर बताया कि उन्होंने ब्लड देने के लिए बुलाया है। आशा देवी से जानकारी की गई तो उन्होंने बताया कि उनके परिवार और रिश्तेदार में ब्लड देने वाला कोई नहीं है। एक रिश्तेदार के बेटे से खून की व्यवस्था करने के लिए कहा था। रिश्तेदार के बेटे ने अस्पताल आकर एक कर्मचारी से 9000 में एक यूनिट ब्लड की व्यवस्था कराने का सौदा तय किया था। कर्मचारी के कहने पर ही यह युवक ब्लड देने आया है।

कासगंज जनपद के सोरों का निवासी था युवक
पूछताछ के दौरान पकड़े गए युवक ने बताया था कि वह कासगंज जनपद के सोरो थाना क्षेत्र का निवासी है। उसको यहां एक कर्मचारी द्वारा खून देने के लिए बुलाया गया है। इस दौरान कर्मचारी द्वारा युवक को भगा दिया गया। ब्लड बैंक के कर्मचारी युवक को खोजते रहे लेकिन, वह नहीं मिला। ब्लड बैंक के कर्मचारियों ने महिला को एक यूनिट ब्लड दिया। महिला से आगे सीधे संपर्क करने की बात कही।

लोहिया अस्पताल पुरुष के पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर किरिटी कनौजिया ने बताया मामला संज्ञान में आया है। जिस समय में मामला हुआ वह इमरजेंसी में ड्यूटी कर रहे थे। इमरजेंसी के कर्मी की संलिप्तता बताई जा रही है। वह उच्चाधिकारियों को लिखित में अवगत कराएंगे। लोहिया अस्पताल पुरुष के प्रभारी सीएमएस अजय कुमार ने बताया मामला गंभीर है। पूरे प्रकरण की जांच कराई जाएगी । जो भी कर्मचारी इसमें लिप्त है उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।