पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्रुखाबाद में 3 ठगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार:एसपी का पीआरओ बन दोहरे हत्याकांड के पीड़ित से वसूले थे पैसे

फर्रुखाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता करते एसपी। - Money Bhaskar
पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता करते एसपी।

फर्रुखाबाद पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ का पीआरओ बन कर ठगी करने वाले गिरोह का पुलिस ने शुक्रवार को पर्दाफास किया। आरोपियों द्वारा अमृतपुर दोहरे हत्याकांड के पीड़ित से हजारों की ठगी की गई थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से नकदी भी बरामद की।

कहा-आरोपियों को पकड़वाना है तो दो 30 हजार रुपए

जिले कि अमृतपुर निवासी दिनेश अवस्थी व उनके पुत्र पीयूष अवस्थी की गोली मारकर लगभग डेढ़ माह पूर्व हत्या कर दी गई थी। मृतक दिनेश के पुत्र अनुभव अवस्थी ने थाने में 3 जून को मुकदमा दर्ज कराया|। जिसमें कहा कि हत्याकांड के एक दिन बाद 8 मई को उनके पास एक शाम 6 बजे एक फोन आया। फोन पर बात कर रहे व्यक्ति ने अपना परिचय एसपी के पीआरओ के रूप में दिया और कहा की उसे तत्काल आरोपियों को पकड़ना है। लिहाजा उसे 30 हजार रुपये लिए थे । जब विश्वास करके 10 हजार उसे दिये और 20 हजार उसके अगले दिन यूपीआई कर दिया। मुकदमा दर्ज होने के बाद थाना पुलिस के साथ ही सर्विलांस टीम व एसओजी टीम ने अपना जाल बिछाया। जहां पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

सीतापुर के निवासी है पकड़े गए आरोपी

एसपी अशोक कुमार मीणा ने बताया कि पकड़े गये आरोपी जनपद सीतापुर के मिश्रिख मोहल्ला थोक निवासी सौरभ वाजपेयी उर्फ संजय उर्फ रानू , सीतापुर के ही मिश्रिख किशुनपुर निवासी रामधार मौर्य व कुलदीप उर्फ चंद्र कुमार निवासी कुलुवा मिश्रिख है। सौरभ वाजपेयी गैंग का सरगना है। जो पूरा गैंग चलाता था। वह न्यूज पढ़ने के बाद पीड़िता के पास फोन करके ठगी करता था। उनके पास से लिए गये 30 हजार की नकदी व चार मोबाइल फोन भी बरामद हुए है।

खबरें और भी हैं...