पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भरथना में दो अस्पताल सीज:नोडल अधिकारी व चिकित्साधिकारी ने मारा छापा, एक हॉस्पिटल के नहीं मिला रजिस्ट्रेशन, दूसरे का झोलाछाप फरार

भरथना, इटावा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्य चिकित्साधिकारी के निर्देश पर नगर में अवैध रूप से संचालित हो रहे अस्पताल पर छापेमारी कर उसे सीज किया गया।

मुख्य चिकित्साधिकारी इटावा के निर्देशन पर नोडल अधिकारी व चिकित्साधिकारी डॉ प्रदीप गुप्ता, डॉ. उपमुख्य चिकित्साधिकारी अवधेश चंद्र, कार्यालय लिपिक रिजवान अहमद के साथ भरथना चौकी की टीम के साथ भरथना-इटावा रोड पर मोहल्ला कृष्णा नगर में अवैध रूप से संचालित बाबूराम मेमोरियल अस्पताल में छापा मारा। अस्पताल के संचालक पंजीयन सम्बंधी कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सके। टीम ने अस्पताल को सीज कर दिया।

इसी क्रम में भरथन-बकेवर रोड पर मोहल्ला राजागंज में अवैध रूप से चल रहे गीतांजलि हॉस्पिटल पर छापेमारी की गई। लेकिन छापेमारी की भनक लगते ही अस्पताल संचालक अपना अस्पताल बंद कर मौके से भाग गया। मौके पर पहुंची टीम ने आसपास में लोगों से पूछताछ कर हॉस्पिटल संचालित होने की जानकारी ली। इसके बाद अस्पताल सीज कर दिया।

दोनों अस्पातालों की मिल रही थी शिकायतें

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ अवधेश चंद्र ने बताया कि अवैध रूप से बगैर डॉक्टर के संचालित हो रहे बाबूराम मेमोरियल अस्पताल व गीतांजली अस्पताल की शिकायत की गई थी। जिसकी जांच पड़ताल हेतु स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा छापेमारी की गई। बाबूराम मेमोरियल अस्पताल का जनरेटर चलता पाया गया और एक मरीज भी मौजूद था।

वहीं गीतांजलि अस्पताल पहले से बंद कर उसका संचालक मौके से भाग गया। उन्होंने बताया कि अस्पताल के पीछे की ओर से जाकर देखा तो 2 ऑक्सीजन गैस सिलेंडर जिनके पाइप लाइन अस्पताल के अंदर की ओर जा रही थी। खाली बोतल व सिंरिंज पड़ी हुई थीं। लेकिन मौके पर न तो डॉक्टर और न ही कोई कर्मचारी नजर आया।

अवैध अस्पताल में मेडिकल स्टोर भी मिला।
अवैध अस्पताल में मेडिकल स्टोर भी मिला।

दोबारा खुले अस्पताल तो होगी FIR

बताया कि सीज किए अस्पतालों की एक कॉपी थाना प्रभारी दी जा चुकी है। अगर कोई इसे खोलता है तो उनके खिलाफ सीधी एफआईआर दर्ज की जायेगी।

पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पतालों में कागजात चेक किये।
पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पतालों में कागजात चेक किये।