पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एटा में प्लास्टिक बैन से व्यापारी परेशान:जिले में पूरी तरह बैन कर दी गई है प्लास्टिक, व्यापारियों ने कहा- पहले लोगों में जागरूकता की जरूरत

एटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एटा में प्लास्टिक पर बैन लगाए जाने के बाद व्यापारियों की परेशानियां बढ़ गई हैं। उनका कहना है कि प्रशासन को प्लास्टिक पर बैन लगाने से पहले लोगों में जागरूकता की जरूरत है। बता दें कि शासन के निर्देशों के बाद सिंगल यूज प्लास्टिक जिले में पूरी तरह बैन कर दी गई है, जिससे व्यापारी वर्ग बहुत परेशान है।

प्रशासन के इस आदेश के बाद अब ना तो सिंगल यूज प्लास्टिक बनेगी और ना ही इसको बेचा जा सकेगा। प्लास्टिक बैन के बाद जगह-जगह दुकानदारों पर छापेमारी की जा रही है और सिंगल यूज प्लास्टिक मिलने पर चालान किए जा रहे हैं। इससे दुकानदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

दुकानदार प्रवेश का कहना है कि शैंपू के पाउच से लेकर नमकीन बिस्किट सहित कई चीजों में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल होता है, जिसमें यह पैक होकर आती हैं। सर्वाधिक नुकसान इसी सिंगल यूज प्लास्टिक से है, क्योंकि कूड़े के ढेर से लेकर नाले नालियों में प्लास्टिक के पाउच पड़े नजर आ जाते हैं। लेकिन प्रशासन सामान रखने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली पॉलिथीन पर ही पूरी तरह प्रतिबंध लगा रहा है, जिससे सामान रखने में और देने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

स्थानीय दुकनदार रामपाल कहते हैं कि लोगों में जागरूकता का अभाव है, इसलिए लोग घर से झोला या सामान रखने का बैग साथ नहीं लेकर आ रहे हैं। कुछ सामान ऐसे हैं जिनको झोले या बैग में नहीं दिया जा सकता है। अन्य दुकानदारों ने बताया कि आटा, मैदा, रवा जैसी चीजें झोले में रखकर नहीं दी जा सकती। सरकार के इस अचानक लगाए गए प्रतिबंध ने व्यापारियों और आम आदमी की मुश्किलें बढ़ा दी है। व्यापारियों का मानना है कि दुकानों मे छापे मारने से अच्छा है कि जिन फैक्ट्री में इनका निर्माण होता है, वहां छापे मारे जाएं।

खबरें और भी हैं...