पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एटा में सीवर लाइन बिछाने में लापरवाही:काम धीमा होने के कारण व्यापारियों में आक्रोश, शहरवासियों को हो रही परेशानी

एटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एटा जनपद में 350 करोड़ रुपये की लागत से बन रही सीवर लाइन का काम कछुए की गति से चलने के कारण शहर के व्यापारियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जनपद मुख्यालय की जीटी रोड जो कि शहर की लाइफ लाइन कही जाती है पूरी खुदी पड़ी है। जिससे यातायात वन वे कर दिया गया है। यातायात वन वे कर देने से एटा शहर में सुबह से ही भयंकर जाम की स्थित बनी रहती है। खास तौर से स्कूल जाने के समय और सरकारी आफिस में जाने के समय एक साथ लोगों के निकलने से सड़क पर बहुत समय के लिए जाम लग जाता है। कई बार यहाँ के स्थानीय लोगों ने जल निगम के अधिकारियों से और प्रशाशनिक अधिकारियों से शिकायत की है परंतु उसका कोई भी प्रभाव नही पड़ रहा है। एटा शहर के जीटी रोड पर सीवर निर्माण के दौरान लापरवाही को लेकर व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने भी जल निगम से शिकायत की है ।

उनका कहना है कि जीटी रोड पर सीवर लाइन पड़ने के बाबजूद भी मिटटी के ऊपर गिट्टी नहीं डाली जा रही है जिससे वहां पर आवागमन सुचारू नही हो पा रहा है।सीवर लाइन के निर्माण में लापरवाही से व्यापारिओ में आक्रोश पनपता जा रहा है। इस पर एटा व्यापर मंडल के नगर अध्यक्ष अतुल राठी ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा है कि शहर के जीटी रोड पर सीवर लाइन अधिकांश पड चुकी है

फिर भी जल निगम ने लापरवाही के चलते केवल मिटटी डालकर ही छोड़ दिया है,उसपर गिट्टी डालने का काम शुरू भी नही किया जा रहा है। इससे यहाँ यातायात भी बाधित हो रह और व्यपारियो का धंधा भी चौपट हो रहा है। व्यापार मंडल के नगर अध्यक्ष अतुल राठी ने जल निगम द्वारा की जा रही लापरवाही की शिकायत एटा जिला प्रशाशन से करते हुए सीवर लाइन पड़ने के तुरंत बाद वहां की सड़क को पूर्व की ही भांति नही किया जा रहा है। स्थिति यहां तक खराब है कि पूरा शहर खुदा पड़ा है बड़े बड़े गहरे गड्ढों में वाहन और यात्री गिर जाते हैं।

खबरें और भी हैं...