पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जलेसर का दरगाह प्रकरण:तीस सालो से किये कब्जे पर गरजा बुलडोजर, दस दुकानें की गई ध्वस्त

जलेसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बड़े मियां दरगाह के पूर्व कमेटी सदस्यों द्वारा तीस सालो से अनाधिकृत से सरकारी जमीन पर कब्जा कर डेयरी व षोरा फैक्ट्री चलाकर अपना साम्राज्य जमा लिया था जिस पर बीते बुधवार को एसडीएम अलंकार अग्निहोत्री ने इन जमीनों का चिन्हांकन कर कब्जा हटाये जाने को लेकर पालिका को निर्देष दे दिये थे। जिस पर गुरूवार को कोतवाली पुलिस व राजस्व तथा पालिका की संयुक्त कार्यवाही कराकर कब्जो पर जमकर बाहुबली गरजा। तथा अवैध रूप से बनाई गयी पक्की दुकानों पर पालिका ने सीट लगाकर अपने कब्जे में ले लिया है।

गुरूवार को मौहल्ला हथेलियां व मौहल्ला हथौड़ा के बीच जेपीएस स्कूल के पास करीब पांच बीद्या जमीन पर एसडीएम अलंकार अग्निहोत्री के निर्देष पर पालिका व राजस्व विभाग की संयुक्त कार्यवाही में पुलिस फोर्स के साथ दरगाह के पूर्व कमेटी सदस्यों अकबर, आदिल, अदनान, हैदर, अजमी, सोहिल, सदनान सहित अन्य परिजनो से कब्जा कर दस दुकानों का निर्माण कर लिया था। दुकानों के पीछे किराये पर डेयरी भी संचालित करा रखी थी। इसी जमीन के सामने एक कमेटी के सदस्य के परिजन अनान व हैदर द्वारा अवैध रूप से षोरा फैक्ट्री का भी संचालन किया जा रहा था। जिस पर प्रषासन ने बुल्डोजर चला कर अवैध रूप से किये गये कब्जे को ध्वस्त कर दिया। वहीं दस दुकानों को मय माल के सील भी कर दिया गया। इसी के साथ ही व्यापारियों ने अपनी-अपनी दुकानों से अपना माल व सामान निकाल कर खाली कर दिया। टीम में उपनिरीक्षक पीके राना, अतर सिंह लेखपाल, सत्यपाल सिंह, महेष चन्द्र, सत्यपाल सिंह आदि मौजूद थे।

विदित हो कि करीब तीन माह से चल रही दरगाह कमेटी के सदस्यों की जांच में सन् 2000 से 2018 तक 120 बैनामे में करोड़ो रूपये की कीमत की सरकार जमीनो के क्रय विक्रय भी किये गये। जांच कराये जाने के पष्चात एसडीएम अलंकार अग्निहोत्री द्वारा कमेटी द्वारा 99 करोड़ो रूपये के गबन किये जाने जांच में बात आयी। इसके पष्चात कमेटी सदस्यों द्वारा पालिका की बीस एकड़ से अधिक भूमि को सालो सालो तक बेच कर अपना करोड़ो रूपये का साम्राज्य बनाकर खड़ा कर दिया।

खबरें और भी हैं...