पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सपा के पूर्व विधायक रामेश्वर यादव की मुश्किलें बढ़ीं:भाई की 8 अवैध दुकानों पर प्रशासन ने चलाया बुलडोजर, सवा करोड़ रुपये आंकी गई कीमत

अलीगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश भर में योगी सरकार अवैध अतिक्रमण पर बुलडोजर चलवा रही है। इसी क्रम में एटा जिले के अलीगंज कस्बे में भी प्रशासन ने अवैध कारोबार पर कार्रवाई की। समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव के भाई एवं पूर्व ब्लॉक प्रमुख रामनाथ यादव की किला स्थित दुकानों को बुधवार को प्रशासन ने जेसीबी से ढहा दिया।

अवैध दुकानों पर प्रशासन ने बुलडोजर चलवाया है।
अवैध दुकानों पर प्रशासन ने बुलडोजर चलवाया है।

कई बार दी गई नोटिस
बताया जा रहा है कि अलीगंज के ही प्राचीन किला की भूमि पर सपा नेताओं ने अवैध कब्जा कर आठ दुकानों का निर्माण कर लिया था। इसे नगर पालिका प्रशासन ने अवैध अतिक्रमण भी घोषित किया था। नगर पालिका ने इस बाबत कई बार नोटिस भी जारी किया था, लेकिन दुकान खाली नहीं हुआ। आज जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई देखने को मिली।

अलीगंज पूरी तरह से छावनी में तब्दील
एटा जिलाधिकारी अंकित अग्रवाल के निर्देशन में अलीगंज के उप जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह और सीओ राजकुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दुकानों के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई को अंजाम दिया है। इस दौरान भारी मात्रा में जिले भर से पुलिस फोर्स को तैनात किया गया था। दुकान के ध्वस्तीकरण से पहले जिला प्रशासन ने अलीगंज कस्बे को छावनी में तब्दील कर दिया था।

जिले भर की पुलिस फोर्स को किया गया था तैनात।
जिले भर की पुलिस फोर्स को किया गया था तैनात।

पूर्व विधायक की परेशानियां बढ़ी
उप जिलाधिकारी अलीगंज मानवेंद्र सिंह ने बताया कि प्राचीन किले की भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर दुकानों का निर्माण किया गया था, जिसकी लिखित रिपोर्ट नगर पालिका ने सौंपी थी। आज तीन जेसीबी लगाकर भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात कर आठ दुकानों को धराशाही किया गया है। दुकानों का मूल्यांकन कर सवा करोड़ रुपये कीमत आंकी गई है।

पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव के परिवार पर प्रशासन द्वारा कार्रवाई का सिलसिला निरंतर जारी है। रामेश्वर सिंह यादव को प्रशासन द्वारा पूर्व के दिनों में भूमाफिया घोषित किया जा चुका है।कई सरकारी जमीनों से प्रशासन ने कब्जा हटवाया है।

खबरें और भी हैं...