पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

देवरिया में व्यक्ति की घर में घुसकर हत्या:हमलावरों ने गर्भवती महिला को भी पीटा, दोनों पक्षों में है जमीनी विवाद

देवरिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक सुशील सिंह की फाइल फोटो - Money Bhaskar
मृतक सुशील सिंह की फाइल फोटो

देवरिया में दबंगों ने एक व्यक्ति पर उसके घर में घुसकर उस पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। जब उसके परिजन उसे बचाने के लिए आगे आए। तो उन्हें भी बुरी तरह से पीटकर घायल कर दिया। इस दौरान एक गर्भवती महिला भी घायल हो गई। बदमाशों के भागने के बाद परिवार घायल व्यक्ति को कोतवाली लेकर पहुंचा। जहां उनकी पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की। अधेड़ आदमी की हालत खराब होने पर वो लोग उसे जिला अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार ने एसपी के आवास पर पहुंचे। एसपी ने शिकायत सुनने के बाद कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिए हैं।

कोर्ट में चल रहा है जमीन का केस

जिले के रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के गोनाह सूरतपुरा गांव निवासी सुशील सिंह(50) और पड़ोसी रविन्द्र सिंह के बीच जमीन का पुराना विवाद है। जिस पर कोर्ट में केस भी चल रहा है। 22 जून को सुशील सिंह के भतीजे गोलू की शादी थी। विवादित भूमि से सामान हटाने के लिए उन्होंने रुद्रपुर कोतवाली में एक एप्लीकेशन दिया था। इस बात से रविन्द्र सिंह नाराज था। शनिवार की देर शाम सुशील अपने घर के बाहर बैठा था। तभी आरोपी ने अपने साथियों के साथ सुशील पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और सभी उसे बेरहमी से पीटने लग गए।

बचाने आए परिजनों को भी मारा

सुशील को पिटता देखकर उसके भतीजे सोनू और गोलू उसे बचाने के लिए आए। तो हमलावरों ने उन्हें भी जमकर पीटा। उन लोगों ने सुशील की हत्या कर डाली। इसके बाद वो लोग घर में घुसे और महिलाओं पर हमला कर दिया। सुशील के भतीजे मोनू की पत्नी को भी मारा जो कि गर्भवती थी।

देर रात तक पुलिस ने नहीं की सुनवाई

इसके बाद सभी हमलावर मौके से फरार हो गए। परिवार के लोग घायल हालत में सुशील को लेकर कोतवाली पहुंचे। जहां देर रात तक पुलिस ने उनकी कोई सुनवाई नहीं की। वो लोग रात भर गुहार लगाते रहे लेकिन पुलिस ने उनकी तहरीर तक नहीं ली।

एसपी ने कोतवाली प्रभारी को लगाई फटकार

सुशील की हालत गंभीर होता देख परिवार वाले उसे जिला अस्पताल लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अन्य घायलों को इमरजेंसी में भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। इसके बाद घर के लोग रात में ही एसपी संकल्प शर्मा के सरकारी आवास पर पहुंचे। वहां उन्होंने एसपी को सारी बात बताई। जिसके बाद एसपी ने कार्रवाई के लिए रुद्रपुर कोतवाली प्रभारी को फटकार लगाई।

5 में से 4 आरोपी हुए गिरफ्तार

इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज किया और हरकत में आ गई। रुद्रपुर कोतवाली प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि पुलिस ने तहरीर में नामजद पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार कर लिया है। रविन्द्र सिंह और उसके पुत्र राहुल सिंह, भतीजे अभिषेक और अभिमन्यु की गिरफ्तारी हो गई है। रविन्द्र सिंह का दूसरा बेटा राजू अभी फरार है। उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है।

खबरें और भी हैं...