पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बरहज में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई:हत्याकांड में जमानत याचिका खारिज करने के बाद आरोपियों को सरेंडर का दिया था आदेश, उल्लंघन पर की कार्रवाई

बरहजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बरहज के पटेल नगर पूर्वी में पिछले साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन दो समुदायों के बीच डीजे बजाने को लेकर झगड़ा हुआ था। जिसमें एक समुदाय के सुमित जायसवाल की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने मौके से दो व्यक्तियों को हिरासत में लिया। जिसके बाद कोर्ट के आदेश के बाद दोनों को जेल भेज दिया गया।

कोर्ट के आदेश का हुआ था उल्लंघन
इस मामले में कोर्ट ने खरपतू एवं प्रदुम्न को दोषी करार दिया गया था। जिसके तहत दोनों जेल भेज दिए गए थे, लेकिन आरोप है कि यह लोग जेल से जमानत पर घर आए थे। कुछ दिनों बाद इन्होंने सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी। कोर्ट ने इनकी याचिका खारिज करते हुए इन्हें कोर्ट में सरेंडर करने का निर्देश दिया गया था, लेकिन यह लोग भागते रहे।

इस पर भी कोर्ट ने कार्रवाई की है। न्यायालय का आदेश न मानने पर कोर्ट ने बरहज पुलिस को इनके घर को सीज करने का निर्देश दिया। मंगलवार को बरहज पुलिस ने खरपतू एवं प्रदुम्न उर्फ दीपक गुप्ता का घर सीज कर दिया।

कोर्ट के आदेश पर हुई कार्रवाई।
कोर्ट के आदेश पर हुई कार्रवाई।

उप निरीक्षक सुभाष पांडे ने बताया कि कोर्ट ने समर्पण का आदेश दिया था। आदेश का उल्लंघन करने पर मकान सीज की कार्रवाई की गई है। इस दौरान उप निरीक्षक सुबाष पांडे के साथ उप निरीक्षक छोटेलाल एवं अन्य पुलिस बल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...