पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चित्रकूट में मरीजों को घर-घर मिल रहा इलाज:ई-संजीवनी से एचडब्ल्यूसी में मिल रही विशेषज्ञ डॉक्टरों की सेवाएं, वीडियो कॉलिंग से दूर बैठे डॉक्टर कर रहे संपर्क

चित्रकूटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चित्रकूट में मरीजों को घर-घर मिल रहा इलाज - Money Bhaskar
चित्रकूट में मरीजों को घर-घर मिल रहा इलाज

चित्रकूट में जरूरतमंद मरीज को इलाज के लिए दूर जाने की जरूरत नहीं है। अब उन्हें घर के पास ही हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में ई संजीवनी के जरिए विशेषज्ञ चिकित्सक से गुणवत्तापरक परामर्श व इलाज की सुविधा मुहैय्या कराई जा रही है।अब तक चार हजार से अधिक लोगों को इसका लाभ मिल चुका है। सीएमएस डॉ भूपेश द्विवेदी ने बताया कि ई संजीवनी के जरिये लोगों को घर के पास ही उच्च गुणवत्ता वाला इलाज मिल रहा है। वीडियो कॉलिंग से दूर बैठे विशेषज्ञ की सेवाएं सीएचओ के जरिये मरीज को दी जा रही हैं। हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर बहादुरपुर (अमानपुर) में आई 24 वर्षीय मनीषा ने बताया कि सेंटर की मैडम ने उनका रजिस्ट्रेशन किया। मनीषा ने बताया कि उन्हें सिर, हाथ और पैर में दर्द के साथ बुखार की शिकायत थी।

उन्होंने बताया की मैडम ने एक डाक्टर से वीडियोकॉलिंग के जरिए बात कराई, उन्होंने कुछ दवाएं बताई। मैडम ने बताई गई दवाईयां दी और सेवन की विधि समझाई। अब मैं स्वस्थ हूँ। मनीषा का कहना है कि पहले वह कर्वी में प्राइवेट डॉक्टर से इलाज कराती थी। हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर की वजह से उन्हें घर के पास ही इलाज मुहैया हो जाता है।
बीमारी से जुड़े विशेषज्ञों का पैनल
नोडल डा बी के अग्रवाल ने बताया की एसजीपीजीआई लखनऊ के डा गिरीश कुरील, डा सविता त्रिपाठी, एमएलबीएमसी झांसी की डा स्वर्णिमा शुक्ला, डॉ सूची, डॉ जूही शरण के साथ जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सक शामिल हैं।
ऐसे होता है रजिस्ट्रेशन
हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर बहादुरपुर की कम्युनिटी हेल्थ अफसर अंजली प्रिया के मुताबिक़ सर्वप्रथम पेशेंट का नाम, उम्र, उसके पिता या पति का नाम लिखते है। उसे क्या परेशानी (बीमारी) है आदि जानकारी रजिस्टर में भी लिखते हैं। इसका आनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद संबंधित मरीज का आवश्यकतानुसार ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, टेंपरेचर, वजन लेते हैं। इसके बाद मरीज को संबंधित डॉक्टर से ऑनलाइन परामर्श दिलाते हैं।जिस हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में लेडी सीएचओ हैं।वहां पर ब्रेस्ट (स्तन) कैंसर का इलाज मुहैय्या कराया जा रहा है।

यहाँ पर ब्लड प्रेसर, ब्लड सुगर, हायपर टेंसन के साथ सर्दी, जुकाम, बुखार सहित सभी सामान्य बीमारियों का इलाज जरूरतमंद को मिल रहा है।डीसीपीएम ने बताया की ई संजीवनी की सुविधा अब हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर भी उपलब्ध है। जिले के 102 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में लोगों को विशेषज्ञ चिकित्सकों का परामर्श व इलाज मिल रहा है। यह सुविधा 15 अप्रैल 2022 से शुरू हुई है। अब तक चार हजार से अधिक लोग ई संजीवनी से इलाज ले चुके हैं।

खबरें और भी हैं...