पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चित्रकूट के रामघाट पर प्रियंका का महिला संवाद:कांग्रेस महासचिव बोलीं- सुनो द्रोपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद न आएंगे..कैसी रक्षा मांग रही हो दुशासन दरबारों से

चित्रकूट7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुनो द्रोपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद न आएंगे..
तुम कब तक आस लगाओगी तुम बिके हुए अखबारों से..
कैसी रक्षा मांग रही हो दुशासन दरबारों से..
सुनो द्रोपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद न आएंगे..!!

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को चित्रकूट में महिलाओं से संवाद के दौरान इस कविता के जरिए महिलाओं में उत्साह भरने की कोशिश की। प्रियंका ने मंदाकिनी नदी के रामघाट से योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। वहीं प्रियंका गांधी भगवान कामतानाथ की पंचकोसी परिक्रमा लगाकर प्रयागराज के लिए रवाना हो गईं।

यहां उन्होंने कहा कि राजनीति में आजकल बहुत क्रूरता और हिंसा है। लखीमपुर में मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल ​दिया। सरकार ने अत्याचारी की मदद की। आशा बहनों को प्रशासन ने अपनी मांगों को उठाने पर बुरी तरह पीटा।

जब आपका शोषण किया जा रहा है और आप पर अत्याचार किया जा रहा है, आपको पीटने वालों से अपना हक मांगेंगे तो वो हक कभी नहीं मिलेगा.. अपने हक के लिए लड़ना पड़ेगा। जो सरकार आपके लिए कुछ कर ही नहीं रही है तो उसे आगे क्यों बढ़ाना?

मंदाकिनी नदी के किनारे रामघाट में 'लड़की हूं लड़ सकती हूं' संवाद कार्यक्रम में शामिल हुई प्रियंका गांधी।
मंदाकिनी नदी के किनारे रामघाट में 'लड़की हूं लड़ सकती हूं' संवाद कार्यक्रम में शामिल हुई प्रियंका गांधी।

प्रियका की बड़ी बातें

  • मैं यहां आपसे इसलिए बात करने आई हूं कि अपना मन बना लीजिए। आप आधी आबादी हैं। तो एकजुट होकर आप अपना हक क्यों नहीं मांग रही हैं?
  • राजनीति में आपकी भागीदारी सुनिश्चित है। महिलाएं लड़ेंगी और लड़ने से समाज और राजनीति में एक बहुत बड़ा बदलाव आएगा। कोई ऐसा राजनैतिक दल नहीं होगा जो उन्हें रोक पाएगा।
  • मोबाइल आपकी सुरक्षा में मदद करेगा। स्कूटी देने की प्रतिज्ञा आपकी पढ़ाई में आपकी मदद करेगी। महिलाओं को सरकारी बस में सारी यात्राएं फ्री होंगी। सरकारी पदों में महिलाओं के ​लिए 40% प्रावधान पहले से मौजूद है।
  • प्रदेश में हर जिले में 75 पाठशालाएं जो केंद्रीय विद्यालय की तरह होंगे लेकिन सिर्फ महिलाओं के लिए होंगे। जिसमें पढ़ाई के साथ अलग-अलग हुनर सिखाए जाएंगे।
  • महिलाओं में करुणा भाव होता है। राजनीति में हिंसा, क्रूरता, अत्याचार और शोषण खत्म करने के लिए महिलाओं का आगे आना जरूरी है। आप आगे आइए ताकि हम राजनीति, समाज और पूरे देश को बदल सकें।

महिलाओं ने सुनाई अपने संघर्ष की कहानी
प्रियंका ने महिलाओं से संवाद किया। संवाद के लिए मंदाकिनी नदी के किनारे नाव पर मंच गया था। घाटों पर महिलाएं बैठी थीं। इस दौरान महिलाओं ने स्वास्थ्य, कानून, शिक्षा, रोजगार के मुद्दे पर अपनी बात रखी। एक छात्रा तान्या ने स्वास्थ्य का मुद्दा उठाया। कहा कि बुंदेलखंड में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी है। 70 से 80 फीसदी लोगों की जान अस्पताल पहुंचने से हो जाती है।

स्वयं सहायता समूह चलाने वाली बिठारी गांव की गिरजा देवी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मिथिलेश देवी ने अपने संघर्ष की कहानी सुनाई। निर्मला भारती ने कहा कि पिता जी दो बीघे के काश्तकार हैं। चार बहन दो भाई हैं। लेकिन रोजगार नहीं है।

मत्तगजेन्द्रनाथ शिव मंदिर में जलाभिषेक करतीं प्रियंका गांधी।
मत्तगजेन्द्रनाथ शिव मंदिर में जलाभिषेक करतीं प्रियंका गांधी।

मत्तगजेन्द्रनाथ शिव मंदिर में किया पूजन
प्रियंका ने मंदाकिनी नदी किनारे रामघाट स्थित मत्तगजेन्द्रनाथ शिव मंदिर में पूजा अर्चना की। उन्होंने विधि विधान से मंत्रोच्चार के बीच भगवान भोलेनाथ का दूध और जल से अभिषेक किया।
मंदिर के पुजारी रामजी दास ने प्रियंका गांधी को मत्तगजेंद्र नाथ की प्रतिमा भेंट की।

मान्यता है कि जब भगवान राम 14 वर्ष के वनवास काल में चित्रकूट आए थे तो सबसे पहले भगवान इसी मंदिर में पूजा अर्चना की थी और आशीर्वाद लेकर आगे बढ़े थे। प्रियंका के साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधायक नीलांशु चतुर्वेदी थे। संवाद कार्यक्रम के बाद प्रियंका गांधी कामतानाथ मंदिर में दर्शन करेंगी।

नदी के किनारे संवाद कार्यक्रम रख गया है। इसमें स्कूली बच्चियां, महिलाएं शामिल हैं।
नदी के किनारे संवाद कार्यक्रम रख गया है। इसमें स्कूली बच्चियां, महिलाएं शामिल हैं।

एयरपोर्ट के बाहर बुके लेकर खड़ा था कार्यकर्ता; बोलीं- दे रहे हैं या जाऊं
प्रियंका नई दिल्ली से विमान से प्रयागराज पहुंचीं थीं। यहां एक दिलचस्प वाकया हुआ, जो चर्चा का विषय बन गया। दरअसल, एयरपोर्ट पर कार्यकर्ता जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। प्रियंका गांधी एयरपोर्ट के बाहर निकलीं तो उनके स्वागत के लिए एक कार्यकर्ता फूलों का गुलदस्ता लेकर खड़ा था। प्रियंका ने सवालिया अंदाज में पूछ लिया, दे रहे हैं या रख रहे हैं? पहले तय कर लीजिए। इसके बाद प्रियंका ने बुके ले लिया।

महिलाओं पर है कांग्रेस का फोकस
हाल ही में कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव में 40% टिकट महिलाओं को देने का ऐलान किया था। साथ ही कांग्रेस ने सरकार बनने पर लड़कियों को स्कूटी और स्मार्टफोन देने का वादा किया है। सरकारी बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा। नए सरकारी पदों में आरक्षण प्रावधानों के तहत 40% नियुक्ति देगी।