पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चित्रकूट में मंदाकिनी को निर्मल बना रहा गायत्री परिवार:यूपी सीएम ने नदी को अविरल बनाने के लिए किया टेंडर; मंदाकिनी में गिरेगा नर्मदा का जल

चित्रकूट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चित्रकूट में सप्ताह में एक बार मंदाकिनी के घाटों पर स्वच्छता अभियान चलाने का संकल्प गायत्री शक्तिपीठ ने लिया। शुरुआत राघव प्रयाग घाट से हुई। नदी के घाट और किनारे पर पड़े कचरा को हटाया गया। गायत्री शक्तिपीठ व्यवस्थापक और कामदगिरि स्वच्छता समिति के संरक्षक डॉ. रामनारायण त्रिपाठी ने कहा कि समाज के सभी लोगों को सुंदर चित्रकूट स्वच्छ चित्रकूट के लिए सहभागी बनाया जा रहा है। चित्रकूट की पहचान मंदाकिनी गंगा और कामदगिरि है। उधर, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा जल का बांध बना मंदाकिनी को सदा नीरा बनाने की घोषणा थी। इस योजना की लागत 240 करोड़ है। चित्रकूट गौरव दिवस पर मंदाकिनी स्वच्छता संयोजक डॉ. रामनारायण त्रिपाठी की मांग पर की थी।

डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ला, सतना के डीएम अनुराग वर्मा, एसडीएम पीएस त्रिपाठी समेत अधिकारी भी इस अभियान में शामिल हैं। कामदगिरि समिति के महामंत्री शंकर यादव, भरत निषाद अध्यक्ष मछुआरा नाविक संघ, राघव निषाद उपाध्यक्ष, नाविक श्रवण , जुगनू, योगेंद्र दत्त, अजीत सिंह, राजेश सोनी, अभिमयु सिंह आदि अनेक नाम है। मीडिया सामाजिक संगठन गायत्री परिवार के स्वयं सेवक तथा नगर पालिका कर्वी नगर परिषद चित्रकूट के अधिकारी स्वच्छता प्रहरी सभी इस महाअभियान को गति दे रहे है।

खबरें और भी हैं...