पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चित्रकूट से दिल्ली का सफर कर सकेंगे 5 घंटे में:जून से बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे हो जाएगा शुरू, जून में होगा लोकार्पण

चित्रकूटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चित्रकूट से दिल्ली का सफर कर सकेंगे 5 घंटे में - Money Bhaskar
चित्रकूट से दिल्ली का सफर कर सकेंगे 5 घंटे में

चित्रकूट से दिल्ली जाने का सफर अब सिर्फ 5 घंटे में तय किया जा सकता है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का काम लगभग 94 फीसदी पूरा हो चुका है। एक बयान में अपर मुख्य सचिव गृह व यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का जून माह में लोकार्पण कराए जाने की तैयारी है। उन्होंने बताया कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के 19 में से 14 फ्लाई ओवर्स का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, बाकी का निर्माण कार्य तेजी से हो रहे हैं। इसी तरह यमुना व बेतवा नदी पर पुल का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, जबकि केन नदी पर बन रहे पुल का निर्माण अगले 15 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा।

पूरा हो चुका है 94 प्रतिशत काम

उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से जोड़ने का कार्य भी पूरा किया जा चुका है। यात्रियों की सुरक्षा की खातिर एक्सप्रेस-वे पर 15 पेट्रोलिंग वाहनों की तैनाती की जा रही है। एक्सप्रेस-वे का 94 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा हो चुका है साथ ही मई माह में विशेष तेजी लाकर 20 जून तक निर्माण कार्य पूरा करा लिया जाएगा। इस एक्सप्रेस-वे पर चार में से तीन रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है साथ ही बिजली का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है।एक्सप्रेस-वे में पड़ने वाली मुख्य नदियां- बागेन, केन, श्यामा, चंद्रावल, बिरमा, यमुना, बेतवा, सेंगर।

बाद में बनेंगे 6 लेन

एक्सप्रेस-वे में कुल चार रेलवे ओवरब्रिज। 14 बड़े पुल। छह टोल प्लाजा। सात रैंप प्लाजा। 266 छोटे पुल। 18 फ्लाई ओवर। एक्सप्रेस-वे को छह पैकेजों में बांटा गया है। अलग-अलग कंपनियां काम कर रही हैं।बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 फरवरी 2020 को चित्रकूट जनपद के भरतपुर से की थी। कार्यदायी संस्था यूपीडा ने 296.07 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का तेजी से काम किया है।बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में शामिल जनपद चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया, इटावा। बता दें कि एक्सप्रेस-वे की चौड़ाई यह चार लेन का है, बाद में इसे छह लेन तक किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...