पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना:चंदौली में स्वावलंबन कैंप में 952 बेटियों का कराया गया पंजीकरण, जन्म से लेकर बीए की पढ़ाई तक मिलेगी मदद

चंदौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के प्रति लोगों में जागरुकता बढ़ी है। इसका नतीजा रहा कि स्वावलंबन कैंप में अब तक 952 बेटियों का पंजीकरण कराया गया। उन्हें जन्म से लेकर बीए की पढ़ाई तक सरकार की ओर से आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। 27 अप्रैल से शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहिम के तहत सरकार ने गरीब बेटियों की शिक्षा में मदद के लिए कन्या सुमंगला योजना शुरू की है। इसके तहत पंजीकरण कराने वाली बेटियों को जन्म से लेकर बीए तक की पढ़ाई के लिए 15 हजार रुपये की सहायता राशि छह किस्तों में भेजी जाती है। परिवार की अधिकतम आर्थिक आय तीन लाख तक वाले ही इसके लिए पात्र माने जाएंगे। वहीं एक परिवार की अधिकतम दो बेटियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।

कन्या के जन्म के समय दो हजार रुपये की पहली किस्त दी जाती है।
कन्या के जन्म के समय दो हजार रुपये की पहली किस्त दी जाती है।

जानिए कब-कब मिलती है धनराशि
कन्या के जन्म के समय दो हजार रुपये की पहली किस्त दी जाती है। एक वर्ष पूर्ण होने पर टीकाकरण के दौरान एक हजार रुपये की दूसरी किस्त मिलती है। बेटी के कक्षा एक में दाखिला कराने पर दो हजार रुपये की तीसरी किस्त मिलती है। वहीं बालिका जब छठी कक्षा में दाखिला लेती है तो दो हजार रुपये की चौथी व कक्षा नौ में दाखिला कराने पर तीन हजार रुपये की पांचवीं किस्त मिलती है। बालिका के डिप्लोमा अथवा स्नातक में प्रवेश के दौरान पांच हजार रुपये की छठीं किस्त मिलती है।

एक वर्ष पूर्ण होने पर टीकाकरण के दौरान एक हजार रुपये की दूसरी किस्त मिलती है।
एक वर्ष पूर्ण होने पर टीकाकरण के दौरान एक हजार रुपये की दूसरी किस्त मिलती है।

कैसे कराएं पंजीकरण
जिला प्रोबेशन अधिकारी इंद्रावती यादव ने बताया कि कन्या सुमंगला योजना रजिस्ट्रेशन के लिए वेबसाइट पर (mksy.up.gov.in) आनलाइन आवेदन किया जा सकता है। किसी तरह की दिक्कत अथवा परेशानी होने और विशेष जानकारी के लिए मुख्यालय स्थित कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...