पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

चंदौली में दो लेखपालों ने किया घोटाला:दूसरे की जमीन पर किसी और को दे दिया कब्जा, 5 पर केस दर्ज

चंदौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लेखपालों ने जमीन के कागजों में किया घोटाला। - Money Bhaskar
लेखपालों ने जमीन के कागजों में किया घोटाला।

चंदौली के पीडीडीयू नगर तहसील के लखमीपुर में चनरी देवी की भूमि में लेखपालों की करतूत से तीन अन्य लोगों को दस्तावेज में हिस्सेदार बना दिया गया। मामले की सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्याम बाबू ने दो क्षेत्रीय लखपालों सहित कुल पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए मुगलसराय कोतवाल को आदेश दिया है।

हिस्सा मिलने के बाद बेच दी जमीन

पीडीडीयू नगर तहसील क्षेत्र निवासी चनरी देवी की लखमीपुर में 60 डिसमिल कृषि योग्य भूमि है। लेकिन राजस्व विभाग के दो लेखपालों ने कूट रचित दस्तावेजों के अनुसार इसी हिस्से ‌की भूूमि में वारिस के रुप में पंचम, सतीश कुमार भारती और अनिल कुमार का नाम खतौनी में दर्ज करा दिया। हिस्सेदार के रुप में नाम दर्ज होने के बाद तीनों लोगों ने चनरी देवी की भूमि के कुछ भाग को बेच दिया।

मुकदमा दर्ज करने का दिया आदेश

जानकारी होने पर चनरी देवी ने सक्षम अधिकारियों के यहां लेखपालों की करतूत को बताया। लेकिन अफसरों ने कोई सुनवाई नहीं की। इसके बाद उन्होने न्यायालय में वाद दाखिल किया। मामले की सुनवाई के बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्याम बाबू ने फैसला सुनाया।

उन्होनें चनरी देवी के अधिवक्ता राकेश रत्न तिवारी की ओर से दिए गए तर्कों और साक्ष्यों के आधार पर क्षेत्रीय लेखपाल विनोद कुमार पांडेय, लेखपाल राजेश भारती, पंचम, सतीश कुमार भारती और अनिल कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए मुगलसराय कोतवाल को आदेश दिया।

आरोपियों को मिलेगी सजा

अधिवक्ता राकेश तिवारी ने बताया कि विपक्षीगणों के द्वारा चनरी देवी के हिस्से की भूमि को बेचने में भी कूटरचित दस्तावेज प्रस्तुत किए गए हैं। दलित जाति के होने के बाद भी लोगों ने सामान्य जाति का व्यक्ति बनकर भूमि को बेचा है। इस मामले में उन्हें सजा मिलेगी।

खबरें और भी हैं...